Protest

  • श्रम कानूनों में बदलाव का विरोध

भंडारा. आयुध निर्माणी भंडारा में भारत सरकार द्वारा  किए जा रहे निजीकरण व श्रम कानूनों में बदलाव के विरोध में संयुक्त संघर्ष समिति की ओर से राष्ट्रीय महासंघों के  आह्वान पर 1 दिवसीय  राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन शुक्रवार को आयुध निर्माणी के मुख्य द्वार के सामने किया गया. जिसमें झंडे बैनर के साथ विरोध व केंद्र सरकार द्वारा किये जा रहे निजीकरण के निर्यय के विरोध में संयुक्त संघर्ष समिति व निर्माणी स्थित सभी कर्मचारियों की ओर से नारेबाजी की गई. प्रदर्शन को बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने पुरजोर समर्थन किया.

इस अवसर पर महामंत्री रविकांत अहिरवार, अध्यक्ष देवेंद्र ड़हरवाल, केंद्रीय कार्यकारिणी सदस्य राजेश बिसेन, पंकज साकुरे, रवि कुंडू, नीरज चौधरी, शरद बान्ते, चटप, संजय राऊत, नितिन मंदूरकर, छगन खंदाइत, अंगद डेकाटे, संतोष कुथे, भोंदे, ठवकर, चंदु हटवार, बोकड़े, पटले, कुंभलकर, मीणा, आबिद, राजाराम, रहांगडालें, ड़ोलारे, भोंगाड़े, योगेश झंझाड़, श्रीकांत इंगले, महासचिव नीलेश भोंगाड़े, हसन शेख़, गजेन्द्र कुर्वेती, प्रशांत कोचे, धकाते, अनिल पटले, मदनकर, जगताप, कनोजे, शिवनकर, हितेश, कोटांगले, बागड़े महासचिव चंद्रशिल नागदेवे, अध्यक्ष विकास बावनकुले, नाना जेठे, एकनाथ कुंजेवार, रंजित बागड़े, आशीष चौधरी, सुशील बागडे, ए. आर. मोटघरे, सरोज चकोले, कुंदन चौरे, मिलिंद रोकडे, नीलेश भोले, संघरक्षित गजभिये, ए. जे. पात्रे, टी. डी. भोतमांगे, प्रफुल  गजभिये,  एस. पी. घरडे, मिथुन खोब्रागडे उपस्थित थे.