corona

    भंडारा. दिन-ब-दिन कोरोना बाधितों की संख्या कम होते दिखायी दे रही है. उल्लेखनीय है कि अप्रैल महीने में कोरोना पाजिटिव मरीजों के मृत्यु का प्रमाण बढ़ा था एवं मई महीने में किसी न किसी की मृत्यु होती थी. 

    कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर कम होते ही भंडारा जिले में मृत्यु का प्रमाण भी 0 पर आया. कोरोना की दूसरी लहर कम होते ही जून महीने से कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से कम हुई. मरीज ठीक होने का प्रमाण भी बढ़ता गया. जिले में फिलहाल सक्रिय मरीजों की संख्या भी कम होते हुए दिखायी दे रही है. 

    मृत्युदर भी 0 पर आ गई थी. 4 जून को 1 व्यक्ति की मृत्यु दर्ज की गयी थी. उसके पश्चात 20 दिनों तक एक भी कोरोना से मृत्यु नहीं हुई थी, किंतु 21 दिनों के पश्चात 25 जून को 1 की मृत्यु हो गयी थी. 

    12 मरीज हुए डिस्चार्ज 

    सोमवार को भंडारा जिले में 12 मरीज ठीक होकर घर लौटे. ठीक हुए मरीजों की संख्या 58,292 हुई होकर सोमवार को 1 नया कोरोना बाधित मरीज मिला है. कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 59,472 हुई है. मरीज ठीक होने का प्रमाण 98.02 प्रश. है. 

    126 व्यक्तियों की जांच 

    सोमवार को 126 व्यक्तियों के गले के स्वैब की जांच की गयी. उसमें से 1 व्यक्ति कोरोना पाजिटिव आया. अभी तक 04 लाख 14 हजार 608 व्यक्तियों के गले के स्वैब की जांच की गयी है. उसमें 59,472 व्यक्ति कोरोना पाजिटिव आए है. 

    लाखनी में 1 कोरोना पाजिटिव मरीज

    सोमवार को भंडारा जिले में कोरोना पाजिटिव आने वालों में भंडारा तहसील 00, मोहाड़ी तहसील 00, तुमसर तहसील 00, पवनी तहसील 00, लाखनी तहसील 01, साकोली तहसील 00 एवं लाखांदूर तहसील 00 व्यक्तियों का समावेश है. 

    सक्रीय मरीज 52 

    अभी तक 58,292 मरीज ठीक हुए हैं. जिले में अभी कोरोना बाधितों की संख्या 59,472 होकर सक्रिय 52 मरीज हैं. सोमवार को एक भी कोरोना पाजिटिव मरीजों की मृत्यु नहीं होकर जिले में कोरोना पाजिटिव मरीज मृत्यु की कुल संख्या 1128 हुई है. मरीज ठीक होने का प्रमाण 98.02 प्रश. है. तो जिले का मृत्युदर 01.90 प्रश. इतना है. 

    सरकारी एवं निजी अस्पताल में ओपीडी विभाग में आने वाले कोई भी बुखार के मरीजों की कोविड जांच प्रिस्क्राइब करने के निर्देश जिलाधिकारी संदीप कदम ने दिए है.