65,658 farmers deprived of crop loans

लाखांदूर. किसानों को फसल कर्ज, किसान क्रेडिट कार्ड के साथ ही अन्य योजनाओं के लाभ के लिए गांव स्तर पर सेवा सहकारी संस्थाओं का निर्माण किया गया, लेकिन कुल 48 सेवा सहकारी संस्थाओं का समावेश होनेवाले लाखांदूर तहसील में केवल 12 गुटसचिवों पर जिम्मेदारी दी गई है. काम का बोझ अधिक होने से संस्था अंतर्गत किसान एवं नागरिक परेशानी में हैं. 

21,137 सदस्य संख्या
करीब 21,137 किसान सदस्यों की संख्या वाले लाखांदूर में कुल 48 सेवा सहकारी संस्थाए अस्तत्वि में हैं. प्रति वर्ष इस सेवा सहकारी संस्था के तहत करीब 7 हजार सदस्य किसान करोड़ों रुपयों का कर्ज उठाते हैं. यह कर्ज उठानेवाले किसानों की संख्या मुख्यत: खरीफ एवं ग्रीष्मकालीन मौसम में अधिक रहती है. गांव की सेवा सहकारी संस्था के तहत किसानों को शीघ्र कर्ज उपलब्ध होने से किसानों में संतोष दिखाई देता है. किंतु संस्थानिहाय स्वतंत्र गुटसचिवों की कमी के कारण किसानों के कार्य सीमित समय पर नहीं होने की चर्चा है. 

रिक्त हैं 36 पद
तहसील के कुछ सेवा सहकारी संस्थाओं ने संस्था के तहत कुछ गुट सचिवों की नियुक्ति करते हुए जिला देखरेख कार्यालय के तहत नियुक्त गुटसचिवों पर होनेवाला अतिरक्ति काम को बोझ कम कर किसानों को आवश्यक खेती संबंधित सुविधाए आपूर्ति करना शुरू है. किंतु पिछले कुछ वर्षों से किसानों के हक की संस्था के करीब 36 पद रिक्त रहते सरकार प्रशासन द्वारा पद भरती के संबंध में कोई भी दखल नहीं लिए जाने से किसानों द्वारा रोष व्यक्त किया जा रहा है. इस मामले में सरकार ने शीघ्र दखल लेकर लाखांदुर तहसील की सेवा सहकारी संस्था के अंतर्गत रिक्त पदों की शीघ्र नियुक्त करने की मांग तहसील के किसानों ने की है.