Dafali Bajao Andolan
Representational Pic

  • डिपो प्रभारी को सौंपा गया ज्ञापन

भंडारा (का). पिछले पांच माह से कोरोना कहर के मद्देनज़र बंद की गई सार्वजनिक यातायात सेवा को पहले की तरह शुरु की जाए, इस मूल मांग की तरह कुछ अन्य मांगों को लेकर वंचित बहुजन आघाड़ी की भंडारा शाखा के पदाधिकारियों ने भंडारा बसस्थानक के सामने डफली बजाओ आंदोलन किया.

विगत 25 मार्च से कोरोना के प्रादुर्भाव को रोकने के लिए उठाए गए कदम के तहत लॉकडाउन किया गया. इस लॉकडाउन की वजह से तभी से सार्वजनिक यातायात सेवा पर प्रतिबंध लगा हुआ है. लॉकडाउन में न सिर्फ सार्वजनिक यातायात बल्कि सभी सरकारी कार्यालयों पर भी ताले लगे हुए हैं. रोज कमाकर खाने वालों की हालत तो इस कालावधि में सबसे ज्यादा खराब हुई है. 

वंचित बहुजन आघाडी की भंडारा शाखा की ओर से भंडारा बस स्थानक पर डफली बजाओ आंदोलन हुआ और बाद में आंदोलन में शामिल लोगों ने डिपो प्रमुख को ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन सौंपने वालों में जिलाध्यक्ष विजय शहारे, सुरेख खंगार, दिगंबर रामटेके, हरीश रामटेके, नीतेश डोंगरे, शिशुपाल गजभिये, प्रशांत सूर्यवंशी, अमित वैद्य, अतुल नागदेवे, धनपाल गडपायले, दुर्योधन पंधरे, धम्मदीप वाहने, भास्कर सुखदेवे, दीपक जनबंधु, सचिन रामटेके, प्रांजल लांडगे, नेहाल कांबले, नीलेश नान्हे, संघदीप देशपांडे आदि का समावेश था.