भंडारा में दिनभर गूंजता रहा भगवान श्रीराम का नाम

भंडारा. अयोध्या में भगवान श्रीराम के मंदिर का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अगस्त को किया. 200 अतिथियों की उपस्थिति में आयोजित किए गए भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान जहां अयोध्या नगरी को दुल्हन की तरह सजाया गया था, वहीं दूसरी ओर देश के अन्य हिस्सों में राममय वतावरण रहा, भंडारा जिला भी इसका अपवाद नहीं रहा. 

भंडारा शहर के विभिन्न चौकों में भगवान श्रीराम के कटआउट्स लगाए गए. खांबतालाब, गांधी चौक, राजीव गांधी चौक, जलाराम चौक, जिला परिषद सभी क्षेत्रों में भगवा ध्वज इस कदर लहरा रहा था कि मानो राम मंदिर के शिलान्यास का समारोह भंडारा में हो. जो लोग अयोध्या में श्री राम मंदिर के शिलान्यास समारोह का हिस्सा नहीं बन पाए, उन्होंने भंडारा में ही मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की जय-जयकार करके इस बात का एहसास करा दिया कि वे भले ही सशरीर अयोध्या में न हों, पर उनका मन अयोध्या में ही है. हाथ में भगवा झंडे तथा मुंह से भगवान श्रीराम की जयजयकार करने वालों का स्वर उस वक्त और तेज हो गया, जब अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्री राम मंदिर का शिलान्यास किया।

भंडारा शहर में आतिशबाजी भी की गई. किसी भी अप्रिय घटना को टालने के लिए कड़ी सुरक्षा व्यवस्था भी की गई थी. कोरोना महामारी के कारण लोगों ने सामाजिक दूरी का पालन तो किया ही साथ ही मुंह पर मास्क लगाकर रखा था. 

लंबे संघर्ष के बाद अयोध्या में भगवान श्रीराम के मंदिर का शिलान्यास होने का आनंद भंडारावासियों के चेहरे पर स्पष्ट तौर पर देखा जा रहा था. हालांकि कुछ लोगों ने यह भी दावा किया कि भाजपा ने अयोध्या में श्रीराम मंदिर के कार्यक्रम को अपनी पार्टी का कार्यक्रम बनाकर रख दिया है.