आत्महत्याग्रस्त परिवार के साथ मनाया भाईदूज

  • जिलाधिकारी संदीप कदम की अभिनव पहल

पालांदुर (सं). भाईदूज के अवसर पर समीप के डोंगरगांव के आत्महत्या करने वाले किसान सुखदेव फंदे के निवास पर, जिलाधिकारी संदीप कदम ने अचानक दौरा करके उसकी पत्नी व बेटे को उपहार देकर भाईदूज मनाया. इसके अलावा, बच्चों की शिक्षा व मृतक की वृद्ध मां के बारे में पूछताछ करने के लिए, जिलाधिकारी की इस पहल की हर तरफ प्रशंसा हो रही है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, डोंगरगांव के एक किसान सुखदेव फुंडे (45) ने लगातार अकाल व कर्ज के कारण जहर खाकर 2019 में आत्महत्या कर ली. इसके कारण उनके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा. भाईदूज के उपलक्ष्य पर संवेदनशील जिलाधिकारी संदीप कदम ने आत्महत्या करने वाले पीड़ित के परिवार का दौरा करने व उन्हें सांत्वना देने के लिए यह अभिनव पहल शुरू की है.

इस दौरान उन्होंने डोंगरगांव साक्षर में फुंडे परिवार का दौरा किया. व सुखदेव फुंडे की विधवा वंदना को साड़ी चोली व उनके बेटे को एक कंबल भेंट किया. और शिक्षा के बारे में पूछताछ की. किसान विधवा ने जिलाधिकारी संदीप कदम को अपना भाई माना व व भाईचारा किया.

इस अवसर पर लाखनी के तहसीलदार मल्लिक विराणी, मुरमाडी/तूप के मंडल अधिकारी राकेश पंधरे, भूगाव के पटवारी मेश्राम, मुरमाडी के पटवारी मरसकोल्हे, विपीन बडोले के साथ गजानन भेंडारकर, महेश शिवणकर, गणेश कठाणे, भीमराव कठाणे, पालिका मोटघरे, सुनंदा फुंडे व ग्रामवासी उपस्थित थे.