भंडारा नागपुर सफर हुआ मुश्किल, क्षतिग्रस्त सड़क की वजह से रफ्तार हुई धीमी

  • सड़क मरम्मत की आवश्यकता

भंडारा. भंडारा एवं नागपुर के बीच राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 6 यह जीवन रेखा की तौर पर काम करता है. अगस्त मार्ग बुरे 24 घंटे का ये रहता है प्रतिदिन लगभग साठ हजार वाहन इससे गुजरते हैं. इतना महत्वपूर्ण राष्ट्रीय महामार्ग घूमने के बावजूद महामार्ग प्राधिकरण द्वारा सड़क के महत्व को नजरअंदाज किया जा रहा है.

सड़क की हालत इन दिनों काफी बदतर है. जिस वजह से महा मार्ग से गुजरने वाहनों मैं बैठे व्यक्तियों को झटके का सामना करना पड़ता है. वाहनो  की सामान्य गति की तुलना में अपेक्षाकृत कम रहती है. साथ ही अन्य राष्ट्रीय महामार्ग पर गुजरते समय जिस सुखद अनुभव का आनंद प्राप्त होता हैं. उस अनुभव के ठीक उलट राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक छह पर गुजरने पर लोगों को पीड़ादायक अनुभव प्राप्त हो रहा है.

राष्ट्रीय महामार्ग के वर्तमान स्थिति को देखते हुए मरम्मत के नाम पर केवल गड्ढों को भरने का काम शुरु है. लेकिन आवश्यक्ता तो इस बात की है कि महामार्ग की ऊपरी परत को पूर्णतया निकालकर न परत डाली जानी चाहिए.