PM Aawas Yojna

    भंडारा . सरकार की आवास योजना के तहत प्रति लाभार्थी को 1.20 लाख रुपए की आर्थिक दी जाती है. घर बनाने के लिए लामान्य वस्तुओं के भाव आसमानी उछाल पर हैं. कोरोना काल के बाद से उत्पन्न स्थिति से बिगडे हालातों के कारण घर निर्माण की सभी सामग्रियों के भाव में भी तेजी आयी है, ऐसे में 1.20 लाख रूपए में घर बनाना सिर्फ  देखना जैसा ही है. 

    प्रधानमंत्री आवास योजना, आदिवासी शबरी योजना, रमाई आवास योजना शुरु की है. इस योजना के तहत हर घर के निर्माण के लिए 1.20 लाख रूपए सरकार की ओर से दी जाती है. महाराष्ट्र ग्रामीण रोजगार योजना के अंतर्गत 18,200 रुपए तथा स्वच्छ भारत मिशन के तहत 12 हजार रूपए को मिलाकर 1 लाख, 50 हजार रूपए का अनुदान घरों के निर्माण दिए गए.

    गृह निर्माण के लिए सीमेंट, बालू, गिट्टी, ईंट, लोह की छड़ें ये सभी वस्तुएं इतनी मंहगी हो गई हैं कि सभी सामग्री खरीद कर सवा लाख में मकान बनाय जा सके. बताया जा रहा है कि सरकार ने घर के लिए जो आर्थिक मदद दे रही है, उसमें 20 हजार की वृद्धि की है, लेकिन 1.40 लाख में भी घर बनाना संभव होता दिखायी नहीं दे रहा है.

    फिर भी सरकार की ओर से बढ़ायी गई 20 हजार रुपए की रकम भी बहुत ज्यादा लग रही है, इस योजना के तहत भाल पाने वाले लोगों की आर्थिक स्थिति बड़ी ही खराब है, ऐसे में अगर इस योजना के तहत लाभ पाने वाले लोगों को सरकारी मदद 2 लाख रूपए तक की जाए तो इस योजना से लाभ पाने वालों को काफी हद तक राहत मिलेगी.