Strike Logo

भंडारा (का). तहसील के टाकली खमाटा में बाढ़ से प्रभावित किसानों को अब तक नुकसान का मुआवजा नहीं मिला है. इसी के चलते ग्रामीणों के साथ किसानों ने 25 दिसंबर को चक्काजाम आंदोलन करने की चेतावनी दी है. अन्यायपूर्ण किसान संघर्ष समिति की ओर से हाल ही में विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले, विधायक नरेंद्र भोंडेकर, जिलाधिकारी भंडारा को एक याचिका सौंपी गई.

किसानों को नहीं मिला मुआवजा

भंडारा जिले की वैनगंगा नदी में अगस्त के महीने में बाढ़ आई थी और टाकली खमाटा के अधिकांश खेत क्षतिग्रस्त हो गए थे. सरकार द्वारा बाढ़ पीड़ितों की मदद करने की घोषणा के बाद क्षेत्र के खेतों का सर्वेक्षण किया गया था और कहा गया कि नुकसान की भरपाई जल्द की जाएगी, लेकिन अभी तक इन किसानों को मुआवजा नहीं मिला है.

इन किसानों ने कई बार तहसील कार्यालय को इसकी सूचना दी. इसके बावजूद इन किसानों को मुआवजा न मिलने के कारण, अन्यायपूर्ण किसान संघर्ष समिति ने 25 दिसंबर को कोथुर्णा रोड भंडारा में चक्काजाम आंदोलन की चेतावनी दी है. शिष्टमंडल में किसान संघर्ष समिति जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर भिवगड़े, सूरज परदेशी, विष्णुदास लोणारे, पुरूषोत्तम गायधने, कोठीराम पवनकर उपस्थित थे.