Congress and NCP

  • आरक्षण को देखते हुए तैयारी

लाखांदूर. आने वाले महीनों में जिले में जिप व पस के चुनाव होने की संभावना है. हालांकि चर्चा है कि कांग्रेस राकां चुनाव अपने दम पर लड़ेगी. लाखांदूर तहसील में 6 जिप गुट व 12 पंस गण है. यानि प्रत्येक जिप गुट में 2 पंस गण शामिल है. हालांकि तहसील के सभी पार्टी के तहत इच्छुक उम्मीदवारों की जिप उम्मीदवारी के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे हैं. सभी जिप गुट का आरक्षण तय है.

आरक्षण के तहत उम्मीदवारों ने भी चुनाव की तैयारी की है. आरक्षण अनुसार भागड़ी जिप समूह अनुसूचित जाति, मासल जनरल, पिंपलगांव को अनुसूचित जनजाति, मोहरना-अनुसूचित जाति महिला, सारंडी (बू.) अनुसूचित जाति महिला व दिघोरी मोठी सामान्य महिला आदि के अनुसार आरक्षित है, लेकिन आरक्षण के अनुसार इच्छुकों की चढ़ाई तहसील के 2 क्षेत्रों में भागड़ी व मसल गुट में दिख रहा है.

उम्मीदवारों की खोज जारी

लाखांदूर तहसील को नाना पटोले की कर्मभूमि माना जाता है, इसलिए कहा जा रहा है कि कांग्रेस पार्टी के भीतर उम्मीदवारों की लड़ाई निश्चित रूप से जारी है. सांसद प्रफुल पटेल के मार्गदर्शन में राकां ने तहसील में भी अपनी पकड़ बना ली है. समानांतर विचारधारा वाले दोनों दलों को अपने आप उम्मीदवार मिल जाएंगे. यह भी कहा जा रहा है कि स्थानीय स्वराज्य संस्था के चुनावों में न केवल पार्टी की बल्कि व्यक्तिगत व सामाजिक संबंधों की भी भूमिका महत्वपूर्ण है. सभी दल उम्मीदवारों की खोज में जुटी है.