corona

भंडारा. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की संभावना व्यक्त किए जाने के बाद से भंडारा जिला प्रशासन व स्वास्थ्य प्रणाली ने पूरी तैयारी कर ली है. दवा का पर्याप्त संग्रह उपलब्ध है. मरीजों के साथ कोविड केयर सेंटर में भी पूरी तैयारी की गई है.

ST चालक-वाहक, ऑटो चालकों की होगी जांच

लॉकडाउन के शुरुआत में भंडारा जिला कोरोना मुक्त था. हालांकि कोरोना का पहला मरीज 27 अप्रैल को पाया गया था. इसके बाद मरीजों की संख्या निरंतर बढ़ती गई. जिले में अब तक 9,515 लोग कोरोना संक्रमित हुए है. इनमें से 8,557 ने कोरोना पर विजय प्राप्त की है. फिलहाल जिले का रिकव्हरी रेट 89.93 प्रश. है. वही मृत्यु दर 2.45 प्रश. है. मरीजों का डबलींग रेट 81 दिन है. दिवाली के बाद कोरोना की दूसरी लहर आने की संभावना को देखते हुए प्रशासन ने पूरी तैयारी शुरू कर दी है. एसटी ड्राइवर व वाहक के साथ ऑटो रिक्शा चालकों की भी कोरोना जांच की जाएगी. इसके साथ ही नागरिकों की नियमित जांच शुरू है. यदि कोई मरीज किसी सरकारी या निजी अस्पताल में इलाज के लिए जाता है, तो जिला प्रशासन पहले उसकी कोरोना का परीक्षण करें, ऐसे निर्देश दिये है. 

नागरिकों का सहयोग, करें नियमों का पालन

दिवाली के त्योहार में नागरिकों ने नियमों की धज्जियां उड़ाकर जमकर खरीदी की है. इसका परिणाम 5 से 6 दिनों के बाद दिखाई देने की संभावना है. जिले के सभी सरकारी अस्पतालों में बेड तैयार कर लिए गए हैं. वहां भी रेमेडी सेव्हर इंजेक्शन का कोटा उपलब्ध कराया गया है. कर्मचारी और आक्सीजन के साथ अन्य आवश्यक सुविधाएं भी उपलब्ध करायी गई है. कोविड केयर सेंटर में भी पूरी तैयारी की गई है. स्वास्थ्य व्यवस्था व जिला प्रशासन कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.  लेकिन इसमें नागरिकों का सहयोग व नियमों का पालन करना आवश्यक है. 

हर परिस्थियों से निपटने को तैयार

जिला अस्पताल के साथ-साथ उपजिला अस्पताल व कोविड केअर सेंटर में सुसज्जित प्रणाली कार्यरत है. जिला प्रशासन ने स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर पहले ही अलर्ट कर दिया है. कोरोना की दूसरी लहर दिवाली के बाद न आए इसलिए स्वास्थ्य व्यवस्था व जिला प्रशासन प्रयास कर रहा हैं. नागरिक को नियमों का पालन करने का आह्वान किया जा रहा है.

‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ अभियान के तहत उन मरीजों को सही उपचार प्रदान कर रहा है जो बीमार पाए जाते हैं. अगर दूसरी लहर आती है तो स्वास्थ्य प्रणाली ने इसके लिए पूरी तैयारी कर ली है. अस्पताल में कोविड केयर सेंटर के साथ  अतिरिक्त बेड भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं. दवा संग्रह व आक्सीजन सिलेंडर भी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होने की जानकारी प्रशासकीय सूत्रों ने दी है.