corona

    भंडारा. कोरोना के सफाया होने की आस जगी थी, लेकिन दिन ब दिन बढ़ते मरीजों के आंकड़े बढ़ने से डर है कि कहीं भंडारा जिले में भी लाकडाउन जैसी स्थिति पैदा नहीं हो. रविवार को जिले में 21 मरीज कोरोना पाजिटिव पाए गए. हालांकि आंकड़ा बेहद कम लग रहा है, किंतु जनवरी अंत में भंडारा जिले में पाजिटिव मरीजों की संख्या 10 अथवा इससे कम ही रहती थी. 6 फरवरी को भंडारा में 15 महज कोरोना मरीज पाए गए थे. 8 फरवरी को 11, 9 फरवरी को केवल 3 मरीज कोरोना पाजिटिव पाए थे. 10 फरवरी को 6 आंकड़ा निचे गिर चुका था. किंतु इसके बाद 12 फरवरी से आंकड़ों में बढ़ोंत्तरी हो रही है. 12 फरवरी को 11, 14 फरवरी को 29 मरीज पाजिटिव पाए गए. 16 फरवरी को 21, 17 फरवरी को 14, 18 फरवरी को 19, 19 फरवरी को 18, 20 फरवरी को 20 मरीज पाजिटिव पाए गए है. 21 फरवरी रविवार को 21 मरीज पाजिटिव पाए गए थे.

    सक्रिय मरीजों की संख्या हुई 163 

    जिले में सक्रिय मरीजों की संख्या भी बढ़कर 163 हुइ है. सूत्रों की माने तो भंडारा जिले में जांच आंकड़ों की संख्या कम है. लोगों में एन्टीजन एवं आरटीपीसीआर जांच करने के प्रति जागृता नहीं है. जिला प्रशासन ने सभी चिकित्सकों से कहा है कि वे मरीजों को जांच करने का निर्देश दें. चिकित्सक ने निर्देश देने के बावजूद अभी भी जांच करने में रूचि नहीं दिखायी जा रही है. 

    कड़े कदम उठाने की जरूरत 

    जिले में प्रति दिन पाजिटिव मरीजों की संख्या का आंकड़ा 20 पार चुका है. खतरे की ओर इशारा कर रहा है. स्थिति भयावह हो इसके पूर्व जिला प्रशासन को एहतियात के तौर पर कड़े कदम उठाने की आवश्यकता है. जिले में लाकडाउन व सोसल डिस्टेसिंग, मास्क पहना आदि बातों को अनिवार्य रूप से लागू करने की आवश्यकता है.