Ekadashi

भंडारा. कोरोना महामारी के कारण इस वर्ष आषाढ़ी एकादशी के मौके पर न तो विठूनाम की जय-जयकार हुई, और नाही शोभायात्रा निकाली गई. कुछ चुनिंदा लोगों के बीच आषाढ़ी एकादशी का पर्व मनाया गया. पूजा समाप्त होने के तुरंत बाद मंदिर में फिर से ताला लगा दिया गया.

छोटे वारकरी रहे आकर्षण
मस्तक पर चंदन का टीका, हाथ में वादन यंत्र, सिर पर तुलसी का पौधा तथा विठ्ठल के नाम के जयघोष में लीन हुए छोटे- छोटे वारकरी शहर के विभिन्न क्षेत्रों में शोभा यात्रा निकाली गई. नूतन कन्या शाला की ओर से निकाली गई शोभा यात्रा को विशेष रूप से सराहा गया. 

गांधी चौक पर स्वागत
सभी स्थान से आए हुए बाल वारकरियों का गांधी चौक पर विशेष स्वागत किया गया. यहां पर हुए रिंगण कार्यक्रम को देखने के लिए हुजूम उमड़ पड़ा. जो पंढरी नहीं जा सके, उन्हें अपने स्वरूप से पंढरी पहुंचाने का पुनीत कार्य इन बच्चों ने किया.