Bhandara Janata Curfew
File Photo

भंडारा (का). कोरोना महामारी के मद्देनज़र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 25 मार्च को 21 दिनों की तालाबंदी की थी. इसके बाद से जीवनावश्यक वस्तुओं को छोड़कर अन्य सेक्टर का कामकाज प्रभावित रहा. मार्च मार्च से 11 अक्टूबर यानि 200 दिनों में जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 6777 हो गई. 200 दिनों में कोरोना के पॉंजिटिव मरीजों का बढ़ते ग्राफ जिला प्रशासन को परेशान कर रही है. भंडारा जिले में कोरोना के मरीजों की संख्या क्यों बढ़ती जा रही है, यह सवाल लोगों के बीच से लगातार उढाया जा रहा है.

कोरोना महामारी की तालेबंदी के 200 दिन पूरे होने के दिन यानि 11 अक्टूबर को जिले में 125 मरीजों के ठीक होकर घर जाने का सुखद संदेश जरूर मिला, लेकिन 11 अक्टूबर को 6 लोगों की मौत होना यही बता रहा है कि कोरोना का संकट अभी टला नहीं है. 11 अक्टूबर तक ठीक हुए कोरोना मरीजों की संख्या 5164 हुई. हालांकि पहले के मुकाबले कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों का प्रतिशत बढ़ गई है. आने वाले दिनों में कोरोना का कहर कम होगा ऐसी उम्मीद जिले की जनता ने अपने मन में संजोकर रखी है.