crime

लाखांदूर. सरपंच को शराब आपूर्तिकर्ता के खिलाफ कार्रवाई करना महंगा पड़ा. मौका देखकर गांव में शराब की आपूर्ति करने वाले ने सरपंच पर जानलेवा हमला कर दिया. इस घटना से परिसर में खलबली मच गई है. गांव में अवैध शराब विक्रेता को शराब की आपूर्ति करते पकड़े जाने से क्रोधित शराब विक्रेता और उसके साथियों ने आधी रात को लाखांदूर तहसील के तिरखुरी पांचगांव मार्ग पर सरपंच पांचगांव निवासी दत्तराज दोनाडकर पर जानलेवा हमला कर दिया. इतना ही नहीं सरपंच का अपहरण का प्रयास भी किया.

शराब लेकर पहुंचने पर सरपंच ने पकड़ा

जानकारी के अनुसार घटना के दिन सुबह के दौरान पाचगांव में ग्रामीणों ने अवैध शराब बिक्री करने के मामले में गांव के ही एक नागरिक को शराब बिक्री बंद करने के लिए विमुस के साथ ग्रापं पदाधिकारी उनके घर पहुंचे. इस दौरान गांव में अवैध शराब की तस्करी करने वाला एक व्यक्ति कार से शराब लेकर पहुंचा. इसकी जानकारी लगते ही विमस सदस्य और ग्रापं के पदाधिकारियों ने दबोच लिया. उसे डरा धमकाकर पुलिस के हवाले कर छोड़ दिया था, किंतु बाद में उसने मौका देखकर सरपंच दत्तराज दोनाडकर व उपसरपंच नान्हे जब नाटक का शुभारंभ कार्यक्रम निपटाकर बाइक से अपने गांव आ रहे थे. तब अवैध शराब आपूर्ति करनेवाला व अन्य कुछ लोगों के साथ सड़क पर रोककर जानलेवा हमला किया. 

सरपंच के अपहरण का प्रयास

इस समय हमला करनेवालों ने सरपंच को जान से मारने व अपहरण करने का प्रयास किया, किंतु लाभ उठाकर पीड़ित सरंपच ने चिल्लाने से कुछ नागरिक घटनास्थल पर दौड़कर आते हुए देखकर हमला करनेवाले कार से फरार हो गए. इस प्रकरण में दूसरे दिन पीड़ित सरपंच ने पालांदूर पुलिस में शिकायत दर्ज की, किंतु पुलिस ने संबंधित घटना दखलपात्र मामले की जगह अदखलपात्र मामला दर्ज करने से पुलिस की कार्रवाई संदेहीत होने का आरोप कर ग्रामीणों ने बडा रोष व्यक्त किया है. इस प्रकरण में पुलिस प्रशासन के वरिष्ठों ने शीघ्र ध्यान देकर हमला करनेवालों को मदद करनेवाले पुलिस अधिकारी कर्मचारियों के साथ आरोपियों के विरोध में कार्रवाई करने की मांग पाचगांव के ग्रामीणों के साथ पीड़ित सरपंच ने की है.