Janata curfew to be released in Kolhapur from September 11 to September 16
File Photo

तुमसर. कोरोना वायरस संक्रमण रोकने नप प्रशासन के आदेश पर सोमवार को पहले दिन शहर में जनता कर्फ्यू के कारण 11 बजे के बाद शहर की सड़कों पर वीरानी छा गईं थीं. बाजार परिसर पूर्णतः बंद रहा था. अस्पताल व दवाइयों की दूकानों को छोड़ सभी प्रतिष्ठान बंद रखे गए थे. सरकारी कार्यालय व बैंकों के कामकाज सावधानी पूर्वक किए जा रहे थे.

क्षेत्र में स्वयं को क्वारंटाइन करने व कोरोना वायरस से संक्रमित होने से बचने की अपील के मद्देनजर लोगों ने कर्फ्यू का पालन किया गया था. वैश्विक महामारी को रोकने के लिए क्षेत्र के नागरिकों ने स्थानीय प्रशासन के दिशा-निर्देशों का पूरी तरह से पालन किया गया था. कर्फ्यू के दौरान बाजार परिसर, शहर की प्रमुख सड़क के साथ ही मोहल्ले की सड़कें पूर्णतः वीरान दिखाई दे रही थी.

सेवा में जुटे रहे पुलिस व नप कर्मी
सड़कों पर कोई भी महिला पुरुष एवं युवा दिखाई नहीं दिए थे. केवल नगराध्यक्ष प्रदीप पडोले, थानेदार रामेश्वर पिपरेवार के मार्गदर्शन में पुलिस जवान, नप कर्मी एव जेसीआई, लॉयन्स क्लब के पदाधिकारी अपनी सेवाएं दे रहे थे. शहर में गत कुछ दिनों में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है. निकट भविष्य में इसमे अधिक उछाल आने की संभावनाओं को टाला नहीं जा सकता है.नगराध्यक्ष प्रदीप पडोले की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन कर विचार विमर्श किया गया था.

सिर्फ मेडिकल व अस्पताल रहे शुरू
शहर में कोरोना के प्रसार को रोकने व संचार क्षेत्र को रोकने कम्युनिटी स्प्रेड के प्रसार को रोकने 14 से 18 सितंबर तक 5 दिन का जनता कर्फ्यू करने का निर्णय लिया गया था. इसके अंतर्गत जनता कर्फ्यू में केवल अस्पताल, मेडिकल शॉप शुरू रही. सभी दूकानें, प्रतिष्ठान, फुट मार्केट, सब्जी भाजी मार्केट आदि पूर्णतः बंद थे.  शहर के सभी चौराहों पर पुलिस जवानों के साथ ही नप कर्मियों द्वारा उपस्थित रहकर जो भी वाहन चौराहों पर से गुजर रहे थे. उनका चालान काटने व जिस व्यक्ति ने मॉस्क नहीं पहना था. उनसे जुर्माना वसूल कर मॉस्क वितरित किया जा रहा है.