Dhammachakra Pravartan Din

लाखनी (सं). डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर ने उनके लाखो अनुयायियों के साथ 14 अक्टूबर, 1956को धर्मांतरण करके बौद्ध धर्म स्वीकार किया था। इस मौके पर लाखनी में सार्वभौम युवा मंच की ओर से धम्मचक्र प्रवर्तन दिन आयोजित किया गया. सर्वप्रथम महाप्रज्ञा बुद्ध विहार में तथागत गौतम बुद्ध तथा महामानव बोधिसत्व डॉ.बाबासाहेब आंबेडकर का अभिवादन करके पुष्पहार अर्पित किया गया. इस मौके पर सामूहिक बुद्ध वंदना भी की गई.

उपस्थित पदाधिकारियों ने इस मौके पर मनोगत व्यक्त करते हुए भगवान बुद्ध के विचार कैसे सदा समकालीन आहे है, यह बताया. इसके बाद नियोजित कार्यक्रम के रूप मे सरकारही अधिकारियों को भगवान बुद्ध तथा उनके धम्म”यह बाबासाहेब आंबेडकर द्वारा लिखित धम्म ग्रंथ भेट के रूप में प्रदान किया गया था.

इस मौके पर  तहसीलदार मल्लिक विराणी, गट विकास अधिकारी शेखर जाधव, पुलिस निरीक्षक दामदेव मंडलवार, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. भुते, लाखनी नगरपंचायत के मुख्याधिकारी राजेंद्र चिखलखुंदे के कार्यालय में भेंट देकर उन्हें”बुद्ध आणि त्यांचा धम्म” नामक धम्म ग्रंथ भेंट स्वरूप प्रदान किया गया.

सदर कार्यक्रमाला सार्वभौम युवा मंच चे अध्यक्ष दिपक जनबंधु,महासचिव नेहाल कांबळे, सल्लागार विजय रंगारी, सचिव सौरभ मेश्राम, संघटक मंगेश गेडाम, सहसचिव पवन गजभिये, सचिन रामटेके, प्र.प्रमुख प्रांजल लांडगे, अरविंद मेश्राम,आकाश जनबंधु, अतुल नागदेवे, अश्विनी भिवगडे, प्रांजली खोब्रागडे व इतर पदाधिकारी व सदस्य गण उपस्थित थे.