Of the total deaths due to Kovid-19 in Gujarat, about 50 percent of deaths occurred in Ahmedabad Civil Hospital.
File Photo

  • पवनी तहसील भाजपा की ओर से की गई मांग

कोंढ़ा कोसरा (सं). सिंदपुरी में बनाए गए कोरोना केंद्र में सुविधाओं का अंबार है. गत दिनों आई बाढ़ में इस केंद्र पर दस फिट पानी भर गया था, इस कारण कोरोना मरीजों को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया था. विगत 10 सितंबर से उक्त कोरोना केंद्र को फिर से शुरु किय गया, लेकिन इस केंद्र पर सविधाओं का जर्बदस्त अभाव है.

सिंदीपुर कोरोना केंद्र में ऑक्सीजन के साथ- साथ अन्य सुविधाओं का अभाव है. इस केंद्र पर सुविधाएं बढ़ायी जाए, इस मांग को लेकर पवनी तहसील भाजपा शाखा की ओर से तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया.

पवनी को तहसीलदार को सौंपे गए ज्ञापन में पवनी तहसील में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या पर चिंचा जतायी गई. इस दौरान तहसीलदार से यह अपील की गई कि वे सिंदपुरी कोरोना केंद्र की असुविधओं को तत्काल दूर कराएं. कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आए हुए मरीज जिनमें गंभीर लक्षण नहीं हैं, ऐसे लोगों को सिंदपुर कोविद (कोरोना) केंद्र में रखा जा रहा है. यहां चिकित्साधिकारी, परिचारिका तथा अन्य कर्मचारी कार्यरत हैं. पिछले सप्ताह आई बाढ़ के कारण यह केंद्र पूरी तरह से पानी में डूब गया था. उस वक्त नाव की मदद से कोरोना मरीजों तथा केंद्र में काम करने वाले कर्मचारियों को सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया था.

विगत 10 सितंबर से यह सेंद्र फिर शुरु हुआ, लेकिन इस केंद्र में भारी पैमाने पर असुविधाएं हैं, जिन्हें दूर करने के लिए तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया.  तहसीलदार को दिए गए ज्ञापन में पवनी तहसील अध्यक्ष मोहन सुरकर, अनिल मेंढे, किशोर पंचभाई, प्रकाश कुर्जेकर, हीरालाल वैद्य, मच्छिंद्र हटवार, सोनू भाजीपाले आदि उपस्थित थे.