भंडारा रोड में रुक सकेगी किसान ट्रेन : साकार होगा सपना

  • स्थानीक किसान एवं व्यापारियों से मिलने आएंगे रेल अधिकारी
  • शुरूवाती सफलता से खुश है किसान

– विजय खंडेरा

भंडारा. भंडारा जिला महत्वपूर्ण सब्जी एवं अनाज निर्यात मंडी के रूप में उभर रहा है. कोलकता से लेकर दिल्ली एवं मुंबई तक भंडारा जिले से सब्जी एवं अनाज भेजा जाता है. लेकिन अब जब रेलवे विभाग ने किसान रेल शुरू करने की घोषणा की. छिंदवाडा से शुरू होनेवाली इस किसान ट्रेन को इतवारी स्टेशन के बाद सिधे गोंदिया में स्टापेज दिया गया था. इससे स्थानीय सब्जी उत्पादक किसान एवं व्यापारियों में तीव्र प्रतिक्रिया उमडी थी. लेकिन अब रेलवे विभाग ने भंडारा रोड स्टेशन में किसान ट्रेन को स्टापेज देने के संबध में अपनी अनुकुलता दिखाई है. रेलवे विभाग के विश्वसनीय सूत्रों ने बताया कि वे शीघ्र ही भंडारा में किसान एवं व्यापारियों से बैठक करेंगे एवं योजना को मूर्तरूप देंगे.

सब्जी एवं अन्य कृषि उत्पाद की नाममात्र दर पर शीघ्र ढुलाई कर किसानों का अपने उत्पाद को देश में भी भेजने एवं बेचने की दृष्टि से सरकार ने किसान ट्रेन की संकल्पना को साकार किया. चूंकि सब्जी उत्पाद को ज्यादा देर तक संरक्षित नहीं रखा जा सकता है. तेज एवं सुरक्षित ढुलाई को प्राथमिकता देते हुए सुनिश्चित किया गया है कि किसान ट्रेन को आवश्यकता से ज्यादा देर कहीं पर रूकने की नौबत न आए. इसके अलावा किसान ट्रेन में माल भेजने की दर भी बेहद कम रखी गयी है. जिससे इस किसान ट्रेन को लेकर भंडारा जिले के सब्जी उत्पादक किसान एवं सब्जी व्यापारियों में उत्सुकता है. यही कारण है कि भंडारा रोड स्टेशन में स्टापेज नहीं होने पर आश्चर्य व्यकत किया जा रहा था.

रेल विभाग ने दिखाई अनुकुलता

किसान ट्रेन के शुरू होने एवं भंडारा रोड में स्टापेज नहीं होने की खबर पर हमेशा की तरह राजनीतिक हस्तियां खामोश रही. लेकिन जिले के विकासप्रेमियों को हिला कर रख दिया था. उन्होने जिला प्रशासन से लेकर रेलवे विभाग से संपर्क किया. जन जवान जय किसान संगठन ने रेल रोकने की चेतावनी भी दे डाली थी. वहीं रेलवे विभाग ने सकारात्मक प्रतिसाद देते हुए कहा कि वे स्टापेज देने के लिए शतप्रतिशत अनुकुल है. रेलवे विभाग के संबंधित अफसर ने नवभारत प्रतिनिधि को बताया कि उन्हे खुशी होगी कि वे भंडारा जिले के सब्जी उत्पादक किसानों के हित में स्टापेज दे सकेंगे.

अब बैठक की प्रतिक्षा

रेल अधिकारी ने बताया कि वे शीघ्र भंडारा पहुंचेंगे एवं स्थानीय सब्जी उत्पादक किसान एवं व्यापारियों से मिलेंगे. आंकडे जुटाए जाएंगे कि कितना माल लोड किया जा सकता है. इसके अलावा नया प्रयोग होने की वजह से किसानों द्वारा उपस्थित प्रश्नों को समाधान किया जाएगा.

नेताओं को फुर्सत नहीं

हैरानी की बात है कि जनता के प्रश्नों का समाधान करने का वादा कर जनप्रतिनिधि बने नेताओं को किसान ट्रेन का भंडारा रोड में स्टापेज नहीं होने की खबर का कोई असर नहीं हुआ. नेताओं ने इस संबंध में किसी से संपर्क करने की जहमत भी नहीं उठाई. नेताओं के इसी रवैए से जिले के विकास का नुकसान होने का आरोप जय जवान जय किसान संघटन के जिलाध्यक्ष सचिन घनमारे ने लगाया है. घनमारे ने रेलवे विभाग एवं जिला प्रशासन का सहयोग के लिए धन्यवाद व्यक्त किया. उल्लेखनीय है कि इस संगठन ने जिला प्रशासन एवं रेलवे विभाग को ज्ञापन सौंपा था कि अगर ट्रेन नहीं रूकी तो रेल रोको आंदोलन किया जाएगा. 

सब्जी उत्पादन में अव्वल है भंडारा जिला

उल्लेखनीय है कि इस समय भंडारा जिले की सब्जियां न सिर्फ देश के महानगरों में बल्कि विेदेश में निर्यात की जा रही है. इन दिनों भंडारा जिले का टमाटर एवं मिर्ची को खाडी के देश में भेजा जा रहा है. सूत्रों की माने तो पिछले दिनों में लगभग 20 टन मेथी सब्जी बंगाल की ओर नियमित रूप से भेजी जा रही थी. यही कारण है कि किसान ट्रेन के भंडारा में रूकने से भंडारा जिले के सब्जी उत्पादक किसान एवं व्यापारियों को मुनाफा बढ सकता है. एक अनुमान के अनुसार पूरे जिले में 200 ट्रक के लगभग सब्जी माल की ढुलाई होती है. भंडारा जिले में सब्जी उत्पादन का क्षेत्र बेहद सुनियोजित एवं वैज्ञानिक तरीके से बढ रहा है. यह बात की पुष्टी कृषि विभाग के अधिकारी भी करते आए है.

भंडारा जिला न सिर्फ सब्जी निर्यातक है. मौसमी सब्जियों की मांग के अनुसार सब्जी का आयात भी किया जाता है. बंगाल, उडिसा, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ, आंध्रप्रदेश, तेलंगना, तामिलनाडु से लेकर उत्तरप्रदेश से सब्जी एवं फल लाए जाते है. ऐसे में तेज एवं सुरक्षित यातायात सुविधा व अवसर की जिले के किसानों को बडी जरूरत रही है.

जिला प्रशासन अनुकुल : जिलाधिकारी संदीप कदम

जिलाधिकारी संदीप कदम ने नवभारत को बताया कि वह जिले में उत्पादित सब्जी अन्य राज्यों में भेजने के लिए भंडारा रोड में स्टापेज मिलने के लिए अनुकुल है. वह इस संबंध में आंकडे जुटाकर रेलवे विभाग से पत्राचार भी करेगा. आवश्यक सभी सहायता देने का आश्वासन जिलाधिकारी संदीप कदम ने दिया.