किसानों को नहीं मिला रहा विशेषज्ञों का मार्गदर्शन

भंडारा. धान भंडारा जिले की मुख्य फसल है. इस फसल पर किसानों की पूरी अर्थव्यवस्था टिकी हुई है. इसके लिए कृषि विशेषज्ञों की ओर से किसानों को सधन मार्गदर्शन देना जरूरी है. किसानों को कृषि विषयक जानकारी दी जाए इसके लिए सरकार की ओर से लाखों रूपए खर्च किए जाते हैं.

कृषि विश्वविद्यालय तथा कृषि विज्ञान केंद्र पर भी सरकार की ओर से अच्छा-खासा खर्च किया जा रहा है. लेकिन जिस मद में सरकार की ओर से कृषि विश्वविद्यालय पर खर्च किया जा रहा है, उस मद में कृषि विशेषज्ञ किसानों का मार्गदर्शन नहीं कर रहे हैं.

कभी मौसम में बदलाव तो कभी बदरी वाला मौसम इसका सीधा असर फसलों के उत्पादन पर पड़ रहा है, ऐसे में किसानों का मार्गदर्शन करना जरूरी है. फसलों पर कीड़े लगने की स्थिति में प्राथमिक तौर पर क्या- क्या किया जाए इसकी जानकारी हर किसान को होनी चाहिए. राज्य स्तर पर कृषि विशेषज्ञ किसानों को कृषि विभाग की मदद से प्रत्यक्ष बांध पर जाकर मार्गदर्शन करें.