किसानों की मेहनत को उचित सम्मान

भंडारा. प्रकृति की मार झेलने के कारण किसानों की चिंता बढ़ गई है. किसानों का ध्यान इन दिनों ज्यादा से ज्यादा सब्जियां उगाने में लगा हुआ है. बताया जा रहा है कि सब्जी उत्पादक किसान इसलिए प्रसन्न हैं, क्योंकि इस बार सब्जी का उत्पादन बहुत ज्यादा हुआ है. कुछ दिनों तक यह तस्वीर सब्जी के बाजारों में देखी गई कि सब्जी उत्पादकों को उचित भाव नहीं मिल पा रहा था, लेकिन पिछले कुछ दिनों में यह देखने को मिल रहा है कि सब्जी के भाव में तेजी आयी है. बाजार में अच्छा भाव मिलने के काऱण किसानों के चेहरे खिल गए हैं.

वर्तमान में भंडारा के बीटीबी सब्जी मंडी में सब्जियों का भाव अच्छा मिल रहा है. आलू-50, प्याज-50, बैंगन का भाव 30-37, मिर्ची का भाव 50-60, धनिया 50-80, टमाटर  30-35, करैला 45-50, गवार 80, पत्ता गोभी 30, भिंडी 30-35 प्रति किलो के दर से व्यापारी सब्जियों को खरीद रहे हैं. बीटीबी सब्जी मंडी के व्यापारियों की ओर से लगाया गया पुर्वानुमान किसानों के लिए फलदायी साबित हुई है. जिले में सब्जी बेंचने के बाद उसे दूसरे राज्यों में भी भेजी जाती है. अधिक मांग तथा आपूर्ति कम होने की वजह से किसानों को सब्जियों के भाव अच्छे मिल रहे हैं. कोरोना जैसी महामारी में बीटीबी सब्जी मंडी ने किसानों की एक तरह से मदद ही की है. बीटीबी सब्जी मंडी किसानों के अधिकार क्षेत्र वाली होकर किसान वहां बड़े विश्वास के साथ अपनी फसल लेकर आते हैं. वर्तमान में सब्जी बाजार में उचित भाव में सब्जियां मिलने से सब्जी उत्पादकों के चेहरे पर प्रसन्नता की लहर दौड़ पड़ी है.