पहले नाली निर्माण तो अब पेवर ब्लॉक के नाम पर बिल का होगा भुगतान, न.प. प्रशासन की कार्यप्रणाली से नागरिकों में रौष

    तुमसर. शहर के प्रभाग न. 10 इंदिरा नगर में पहले नाली निर्माण के नाम पर बगैर कार्य किए 10 लाख रु. का बिल उठाने के बाद अब उसी स्थान पर पेवर ब्लॉक लगाने से चर्चाओं का माहौल गरमाया हुआ है.

    न.प. प्रशासन द्वारा गत दिनों इंदिरा नगर में स्थित पटले से बघेले के मकान तक नाली का बगैर निर्माण किए सबंधित ठेकेदार को लगभग 10 लाख रु. का भुगतान किये जाने पर इसकी वरिष्ठ अधिकारियों से शिकायत की गई थी. इस पर जिला प्रशासन के माध्यम से जांच भी शुरु की गई थी. मामला अब भी विचारधीन है.

    इसके बावजूद न.प. प्रशासन द्वारा ठेकेदार के माध्यम से उसी स्थान पर पेवर ब्लॉक लगवाया गया है. इस संदर्भ में कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष नीरज गौर ने कहा कि, जब उपरोक्त स्थान पर नाली निर्माण करने का नियोजन किया गया था तो पेवर ब्लॉक कैसे लगाए गए है. 

    इसके पूर्व नाली निर्माण के नाम पर उठाए गए बिल की राशि लौटाई गई है. इसके लिए दोषी अधिकारी एवं ठेकेदार के खिलाफ कौनसी कार्रवाही की गईं है.

    उन्होंने कहा कि, एक ओर न.प. प्रशासन द्वारा फंड उपलब्ध नहीं होने का ढिंढोरा पीटकर आवश्यक विकास कार्यो की ओर अनदेखी की जाती है. तो दूसरी ओर विकास के नाम पर बगैर कार्य किये लाखो रु. का चुना लगाया जाता है. कांग्रेस के गौर ने जिला प्रशासन से तत्काल ध्यान देकर मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाही करने की मांग की गई है.