गड्ढे की समस्या से दिलाए छुटकारा; ग्रामीणों ने की मांग

    गोबरवाही. गोबरवाही ग्राम जो कि महाराष्ट्र एवं मध्यप्रदेश को जोडने वाले अंतरराज्यीय महामार्ग क्रमांक 356 पर तुमसर से 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक पहाड़ी अंचल मे बसा हुआ आदिवासी बहुल गांव है. इसी गांव से तुमसर से क्षेत्र की दो बडी मैगनिज खदानो को जोडने वाली सडके भी जाती है. जिसमे से एक सड़क डोंगरी बु. ओपन कास्ट खदान एवं दुसरी सड़क सितासावंगी होते हुए चिखला भूमिगत खदान एवं तुमसर तहसील के एकमात्र पॉलिटेक्निक कालेज विवेकानंद पॉलिटेक्निक को जोडती है. एवं तीसरी सड़क मध्यप्रदेश को जोडती है यह तीनों सडके गोबरवाही के जिस चौराहे पर आकर मिलती है.

    उस चौराहे पर क्षेत्र का सबसे पुराना प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भी है जिसे तुमसर तहसील का मदर पीएसी नाम से भी जाना जाता है उस चौराहे पर सबसे ज्यादा रौनक रहती है. किंतु अत्यंत दुर्भाग्य की बात यह है की उस चौराहे पर ठिक स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य द्वार के सामने ही बड़े बड़े खड्डे होने के कारण बरसात के दिनो में बहुत सारा पानी भर जाता है. यह आज की समस्या नहीं कई वर्षो पुरानी समस्या है. जिसके कारण इस चौराहे से होकर गुजरने वाले यात्री एवं स्वास्थ्य केंद्र में आने जाने वाले मरिजो को भारी समस्या का सामना करना पडता आ रहा है. 

    स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य द्वार पर गड्ढे होने के कारण एम्बुलेंस को भी आने जाने में मुस्किल होती है. एम्बुलेंस में बैठे गंभीर मरिजो को भी अत्याधिक समस्या होती है. जिससे वे और भी गंभीर हो जाते है. गर्भवती महिलाओ को भी अत्यंत समस्याओ का सामना करना पडता है. साथ ही स्वास्थ्य केंद्र के कम्पाऊंड वाल को लगकर कई प्रकार कि दुकाने भी एवं उन दुकानो में आनेवाले ग्राहक भी अपने वाहनो को स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य द्वार पर पार्क कर देते है जिससे रुग्णवाहिका को और भी दिक्कत होती है. 

    जनता की मांग है कि संबंधित स्वास्थ्य विभाग, राज्य सरकार, पी डब्ल्यू डी विभाग, विकास अधिकारी एवं अन्य विभाग इस जल्द से जल्द ध्यान केंद्रित कर इस कई वर्षो से चली आ रही जटिल समस्या का समाधान करे एवं जनता हो इस समस्या से छुटकारा दिलाए.