Holika Dahan
File Photo

    भंडारा. रंग पर्व होली के पहले होलिका दहन किया गया. पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी जिले के शहरी इलाकों में कुछेक स्थानों पर ही होलिका दहन किया गया. होलिका दहन से पहले पूजन किया गया. शहर में लाला लाजपतराय वार्ड, मेंडा, गौतम बुद्ध वार्ड, सत्ताजी वार्ड समेत कुछ अन्य क्षेत्रों में होलिका दहन किया गया. कोरोना के कारण शाम 7 बजे के बाद दूकानें बंद करने के जिला प्रशासन की ओर से जारी किए गए फरमान के कारण होलिका दहन का कार्यक्रम जल्दी समाप्त कर दिया गया.

    उल्लेखनीय है कि कोरोना के दस्तक से पहले तक शहर के विभिन्न क्षेत्रों में होलिका दहन के दिन रात भर जश्न जैसा माहौल रहता था, कहीं डीजे पर युवक थिरकते थे तो कभी ड्रम बजाकर होलिका दहन का कार्यक्रम आयोजित किया जाता था. रात भर होली पर आघारित गीत बजा करते थे. लेकिन कोरोना महामारी ने होलिका दहन के समय बजने वाले डीजे तथा ड्रम का बजना बंद कर दिया. होली दहन के बाद उसमें बहुत से लोग कुछ न कुछ डालते हैं. सच तो यह है कि होली दहन के मौके पर हर किसी को अपने अंदर के किसी न किसी अवगुण का दहन करना चाहिए.