Sand Stock

  • लाखों का राजस्व डूबा

लाखांदूर (सं). चिचोली भागडी के चुलबंद नदी पात्र से अवैध रेत यातायात के कारण गांव की सड़कों की दुर्दशा हो गई है. रात के समय रेती तस्कर चुलबंद नदी से ट्रैक्टर के माध्यम से रेती का यातायात करते हैं. इसके बावजूद भी राजस्व विभाग नींद में दिखाई दे रहा है. जिससे सरकार के लाखों के राजस्व को चूना लगा है.

चिचोली भागडी सड़क पूरी तरह से उखड़ चुकी है. दुर्घटना होने की संभावना व्यक्त की जा रही है. आधी रात के दौरान प्रतिदिन नदी घाट पर 10 से 15 ट्रैक्टर जमा होते हैं. किसी एक स्थान पर बड़े पैमाने पर रेती संग्रहण कर रखा जाता है. हालांकि पुलिस प्रशासन व राजस्व विभाग की इस ओर अनदेखी हो रही है. रेती भरकर ले जानेवाले ट्रैक्टर व ट्रक तेज गति से दौड़ने से दुर्घटना होने की संभावना रहती है.

इस नदी पात्र से किरमटी, ओपारा, भागडी, परसोडी के साथ अन्य गांव के ट्रैक्टर रेती यातायात करने की चर्चा है. इस मामले में सरकार ने शीघ्र दखल लेकर रेती तस्करों के खिलाफ कार्रवाई की मांग ग्रामवासियों ने की है.