File Photo
File Photo

  • सार्वजनिक निर्माण कार्य विभाग के अधिकारी कुंभकर्णी नींद सो रहे

लाखांदूर (का). पिछले कुछ माह से खेतों- खलिहानों में विभिन्न फसलें की वजह से लकड़ी ठेकेदार की ओर से लकड़ी की कटाई नहीं की जा रही है. लेकिन ऐसे में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो अवैध रूप से वृक्ष कटाई का काम धड़ल्ले से कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि सार्वजनिक निर्माण कार्य विभाग के अभियंताओं स हाथ मिलाकर कुछ लकड़ी व्यापारी अवैध रूप से वृक्ष कटाई कर रहे हैं. अवैध वृक्ष कटौती लाखांदूर-पवनी राजमार्ग पर नियमित रूप से होने की जानकारी मिली है.

लाखांदूर- पवनी राज्यमार्ग पर भारी पैमाने पर बबूल के वृक्षों की कटौती धड़ल्ले से किए जाने की जानकारी मिली है. इस वर्ष राज्य मार्ग में वर्षाकाल में कुछ वृक्ष ध्वस्त हो गए थे. इन वृक्षों के गिरने से यातायात में परेशानी उत्पन्न हो गई थी. प्रदूषण टालने के लिए सरकार की ओर से वृक्ष लगाए गए थे. सार्वजनिक निर्माण कार्य विभाग ने लकड़ी कटाई करने वाले धड़ल्ले से वृक्ष काट रहे हैं. इस मामले में सरकार की ओर से तत्काल कार्रवाई करने की मांग की जा रही है.