rape

  • विनय भंग की वारदात सबसे ज्यादा

भंडारा. उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में दलित युवती के साथ सामुहिक दुष्कर्म की सर्वत्र निंदा की गई. महिलाओं के साथ दुष्कर्म के मामले में महाराष्ट्र भी पीछे नहीं है. अगर भंडारा जिले की बात करें तो भंडारा जिले में पिछले नौ माह में महिला पर अत्याचार के 151 मामले दर्ज हुए हैं. पुलिस सूत्रों के मिली जानकारी के अनुसार भंडारा जिले के शहरी तथा ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में महिला अत्याचार की घटनाओं की संख्याओं में भी समानता है.

भंडारा जिले में पिछले 9 माह में 151 मामले सिर्फ महिला अत्याचार से जुड़े हैं. इन आपराधिक मामलों में सबसे ज्यादा 86 मामले विनय भंग के हैं. इसके अलावा अत्याचार के 38, दहेज के 2, दहेज प्रतिबंधक कानून के तहत 21 मामले दर्ज किए हैं. विशेष रूप से 2019 में महिला अत्याचार के 210 दर्ज किए गए. लेकिन यहां भी देखने को मिला है कि आरोपी पर अपराध सिद्ध होकर उसे सजा सुनाए जाने का प्रमाण बहुत कम दिखायी पड़ा है.

जनवरी से सितंबर, 2020 की कालावधि में हुई महिला अत्याचार की घटनाओं में पिछले वर्ष की तुलना में कमी आई है, लेकिन महिला अत्याचार के मामलों में और भी कमी आने चाहिए. भंडारा जिले के अपर जिला पुलिस अधीक्षक का कहना है कि जिले में जरूरत पड़ने पर पथक का गठन करके आरोपियों को पकड़ने पर ही महिलाएओं पर होने वाले अत्याचार को कम किया जा सकेगा.