Wedding
Representational Pic

लाखनी. लॉंकडाउन के लेकर अनलॉक-1 शहर में विवाह समारोह चर्चा के विषय बने हैं. कोरोना कहर के कारण सब कुछ बंद की वजह से लाखनी में भी विवाह समारोह का आयोजन नहीं गया. धीरे-धीरे हालात बदले और विवाह समारोह को अल्प अतिथियों के साथ करने की अपील की गई.

लॉकडाउन के कारण विवाह के मुहूर्त निकलने के कारण इस विवाह नहीं हो सके. जिनकी सगाई हो चुकी थी, किंतु विवाह के मुहूर्त पर तालाबंदी का ताला लगा था. उन घरों में लोग दूसरा मुहूर्त तलाशने लगे हैं. जिनकी सगाई हुई थी, वे अपने विवाह की तिथि की बेसब्री से प्रतीक्षा कर रहे हैं. वर तथा वधू अलग-अलग जिलों के होने के कारण विवाह समारोह में शामिल होना मुश्किल खड़ी होती है.

विवाह समारोह आयोजित करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से पास लेना अनिवार्य है. जिला प्रशासन की अनुमति के बिना विवाह समारोह आयोजित नहीं किया जा सकता.

लॉरडाउन के चौथे चरण में 20 व्यक्तियों की उपस्थिति में विवाह समारोह आयोजित करने की अनुमति दी गई थी. विवाह घर में ही करने के आदेश जारी किए गए थे. अब अनलॉक-1 में आपदा प्रबंधन, मदद तथा पुनर्वास विभाग के पत्र के माध्यम से मंगल कार्यालय में विवाह समारोह आयोजित करने की अनुमति दी गई है. विवाह में आमंत्रित किए जाने वाले अतिथियों की संख्या 20 से बढ़ाकर 50 कर दी गई है. विवाह समारोह में भी मास्क लगाने तथा सैनेटाइजर से हाथ धोने तथा सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमें का पालन करना अनिवार्य है.