Swadhar Yojna

तुमसर. राज्य के ओबीसी प्रवर्ग के कक्षा 12वीं उत्तीर्ण छात्रों को स्वाधार योजना में शामिल करने की मांग जिला कांग्रेस के महासचिव गौरीशंकर मोटघरे ने राज्य के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे से ज्ञापन भेजकर की है.

अनुसूचित जाति के जिन विद्यार्थियों को सरकारी छात्रावास में दाखिला नही मिलता है उन्हें किराए से रहने के लिए राज्य सरकार द्वारा 17 जून 2018 को निर्वाह भत्ता प्रदान करने की योजना शुरू की गई थी. इस योजना को भारतरत्न डा. बाबासाहब आंबेडकर स्वाधार योजना नाम दिया गया था. तदनुसार अनुसूचित जाति के प्रत्येक छात्र को प्रति वर्ष निर्वाह भत्ता के रूप में 60,000 रुपये दिए जाते है. कालांतर में इस योजना में अनुसूचित जनजाति के अलावा मराठा एवं धनगर समुदाय के छात्रों को भी शामिल किया गया है.

प्रति वर्ष 60,000 रुपये दें

गांव में ओबीसी छात्रों की संख्या अधिक मात्रा में है. 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने के बाद छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए अन्य शहरों में जाना पड़ता है. लेकिन आर्थिक परेशानी के कारण उनके लिए उच्च शिक्षा हासिल करना संभव नहीं होता है.उनकी आर्थिक स्थिति को देखते हुए राज्य में ओबीसी छात्रों को अनुसूचित जनजाति, मराठा एवं धनगर समाज जैसी आवास, भोजन, निर्वाह भत्ता प्रदान करने और ओबीसी छात्रों को भी स्वाधार योजना के तहत 60,000 रुपये प्रति वर्ष देने की मांग कांग्रेस के जिला महासचिव मोटघरे ने की है.