Need to decentralize new industries: Uddhav Thackeray

लाखांदूर. नगरपंचायत क्षेत्र के घरकुल लाभार्थियों को घर दिलाने, नल योजना के अंतर्गत नवीन पाइप लाइन शुरु करने, घनकचरे का व्यवस्थापन करने, न.प. के अंतर्गत निकृष्ट निर्माण कार्य, रस्तों तथा गटर के बारे में जानकारी हासिल करने जैसी मुख्य मांगों समेत अन्य मांगों को लेकर  मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को निवेदन भेजा गया है. इस निवेदन में 20 नवंबर को लाखांदूर तहसील राष्ट्रवादी कॉंग्रेस पार्टी की ओर से यहां की मुख्याधिकारी को भेजा गया.

पांच वर्ष पूर्व लाखांदूर नगर पंचायत क्षेत्र में विभिन्न समस्याएं मुह बाए खड़ी हैं. इन समस्याओं का समाधान करने के लिए पिछले कई वर्षों से यहां के नागरिकों ने तहसील राकॉ के अंतर्गत विभिन्न निवेदन दिए गए और आंदोलन भी किए गए, लेकिन  सरकार और जिला प्रशासन की उदासीनता के कारण उक्त समस्यों का निराकरण होने की जगह उनमें  और ज्यादा वृद्धि होने का आरोप लगाया गया.

खास बात यह है कि लाखांदूर प्लॉट स्थित जि.प.प्राथमिक शाला की ओर जाने वाले रास्ते का निर्माण कार्य अत्यंत निकृष्ट श्रेणी का होने की वजह से सिर्फ चार माह में रास्ते की हालत बहुत ही खराब हो गई. ऐसा आरोप भी लगाया गया है.  मुख्यमंत्री  को सौंपे गए ज्ञापन में हाईमास विद्युत सेवा, पथदीप तथा बंद हो चुके सीसीटीवी कैमरों की तुरंत कराने की मांग भी की गई है.

इसके आलावा प्रभाग-1 के सीमेंट रास्ता तथा प्रभाग-10 केगटर का अपूर्ण निर्माण कार्य को पूर्ण किया जाए, इन मांगों के साथ ही कुछ अन्य मांगों को लेकर  निवेदन यहां के मुख्याधिकारी तथा नगराध्यक्ष के माध्यम से भेजा गया. इस निवेदन में यहां के नगराध्यक्ष भारती दिवठे तथा मुख्याधिकारी सौरभ कावले को देते समय भंडारा जिला राकां अध्यक्ष नाना पंचबुद्धे, पूर्व सांसद मधुकर कुकडे,राकॉं.प्रदेश सचिव धनंजय दलाल, भंडारा जिला मध्यवर्ती बैंक के अध्यक्ष सुनील फुंडे, तहसील अध्यक्ष बालु चुन्ने,शहराध्यक्ष अड.मोहन राऊत,राकेश राऊत,अतुल परशुरामाकर,संतोष गोंधोले,मिलिंद डोंगरे, उपसभापति देविदास राऊत,डॉ.खुशाल मोहरकर,मंगेश ब्राम्हणकर, जगदीश बगमारे के साथ अन्य  पदाधिकारी, कार्यकर्ते तथा नागरिक उपस्थित थे.  (फोटो है)