सादगी से मनाया जाए नवरात्र उत्सव

मोहाडी (सं). विदर्भ के पूर्वी किनारे पर स्थित भंडारा जिले के मोहाडी के सुप्रसिद्ध जागृत माता चौंडेश्वरी देवी मंदिर में इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण एकदम सादगी से मनाए जाने के आदेश जिला प्रशासन ने दिए है. पिछल वर्ष नवरात्र उत्सव में 1506 तथा आजीवन 131 को मिलाकर कुल 1637 लोगों का पंजीयन किया गया था. इस वर्ष घट पंजीयन दर 551 रुपए, घट स्थापना करने के बाद घटधारकों को मंदिर परिसर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

जानकारी के लिए शोभाराम मलेवार ( मोबाइल- 9890931106 तथा ज्ञानदेव पराते, (मोहाडी, मोबाइल-9923381123) से संपर्क करें. सभी नियमों के आधीन रहकर मंदिर कमेटी पदाधिकारी नवरात्र उत्सव सादगी से मनाए, ऐसी अपील श्री चौडेश्वरी माता मंदिर कमेटी मोहाडी के अध्यक्ष तथा शारदीय नवरात्र उत्सव समिति के अध्यक्ष प्रेमरतन दमानी ने की है. 

सार्वजनिक नवरात्रोत्सव मंडल मोहाडी नगर पंचायत तथा तहसील की 77 ग्रामपंचायतें,स्थानीय प्रशासन की नीति के अनुसार पहले से अनुमति लेना आवश्यक है. कोविड-19 को कारण उत्पनन स्थिति में संक्रमण का विचार करके हुए न्यायालय की ओर से दिए गए निर्देश मोहाडी नगर पंचायत, स्थानीय प्रशासन ने मंडप के बारे में नीति का पालन करते हुए मंडप बनाया जाए.  इस वर्ष नवरात्र उत्सव सादगी से मनाया जाना अपेक्षित होने के कारण घरेलु तथा सार्वजनिक नवरात्र उत्सव मंडल में स्थापित की जाने वाली आदिशक्ति मां जगदंबे की मूर्ति सजावट पर भी नियम-शर्ते रखी गई है.

देवी की मूति की उंचाई सार्वजनिक मंडलों के लिए 4 फुट तथा घर में स्थापित की जाने वाली देवी की मूर्ति की उंचाई २ फुट से अधिक नहीं होनी चाहिए. माझे कुटुंब-माझी जबाबदारी इस अभियान के तहत जनजागृति इस दौरान करने के निर्देश भी दिए गए हैं. गरबा, दांडिया के आलावा कोई भी सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित न करने के निर्देश भी दिए गए हैं, सार्वजनिक मंडलों से अपील की गई है कि वे स्वास्थ्य  विषयक उपक्रम, रक्तदान शिबिर आयोजित करने के लिए कहा गया है.

इतना ही नहीं सार्वजनिक मंडलों को कोरोना,मलेरिया, डेंग्यु जैसे बीमारियों रो रोकने प्रतिबंधात्मक उपाय,स्वच्छता क बारे में जनजागृति करने के भी रहा गया है, इसके साथ ही आरती,भजन,कीर्तन तथा अन्य धार्मिक कार्यक्रम आयोजित करते समय भीड़ न हो, इस पर विशेष ध्यान देने के निर्देश भी दिए गए हैं. देवी के दर्शन की सुविधा ऑनलाईन, केबल नेटवर्क, वेबसाईट तथा फेसबुक जैसे माध्यम उपलब्ध कराने के बारे में अधिक से अधिक व्यवस्था करने को कहा गया है.