Gharkul

साकोली. साकोली तहसील में रमाई आवास योजना के लिए 3 वर्ष से करोड़ों रुपयों की निधि से अनेक लाभार्थी वंचित हैं. उक्त निधि कब मिलेगी इस बात का इंतजार सभी को है. साकोली तहसील में वर्ष 2016-17 से 2018-19 के जो काम जारी हैं. उन्हें पहले हफ्ते में रूपए प्रदान किए गए. पहले हफ्ते के बाद आगे की एक भी किश्त नहीं दी गई, इस वजह से उक्त धनराशि कोरोड़ों में हो गयी है.

हैं 200 लाभार्थी
एक घर के लिए 1 लाख 30 हजार तथा मग्रोया के माध्यम से 18, 245 रुपए दिए जा रहे हैं. 2019-20 के लिए 200 लाभार्थियों ने मांग की है. इनमें से 194 लोगों का चयन किया गया. निधि उपलब्ध नहीं होने के कारण पहला हफ्ता भी लाभार्थियों को नहीं दिया जा सका. 3 वर्षो से इस बात को लेकर संघर्ष चल रहा है कि रमाई आवास योजना के लाभार्थियों को निधि कब मिलेगी. इस बारे में साकोली पंचायत समिति से पूछताछ जारी है. इस बारे में अभी तक किसी भी प्रकार की दखल नहीं ली गई है. कभी तो निधि मिलेगी इस आस में अनेक लाभार्थियों ने उधारी पर सामान खरीद कर घर बनाया. 

शबरी आवास योजना
शबरी आवास योजना2019-20 के लिए 556 लाभार्थियों का चयन किया गया. इनमें से 471 घरों का प्रस्ताव मंजूर किया गया. पहला हफ्ता भी मंजूर किया गया.  प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत सर्वसाधारण लाभार्थियों के लिए वर्ष 2019- 20 इस वित्त वर्ष में 2,265 लाभार्थियों का चयन किया गया, इनमें से 1,848 को मंजूरी मिली. 632 घरों का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है. प्रधानमंत्री आवास योजना के अंर्तगत सर्व साधारण गुट शबरी को नियमित निधि प्राप्त हुई. पिछले तीन वर्षों से रमाई आवास योजना के लिए निधि प्राप्त नहीं हुई, 3 वर्ष से जो निधि प्राप्त नहीं हुई है. निधि उपलब्ध कराने की मांग योजना के लाभार्थियों ने की है.