Sand

  • 6 दिनों बाद प्रशासन ने जब्त रेत उठाई, रेत तस्करों पर कार्रवाई नहीं होने से आक्रोश

लाखांदूर (सं). रेत तस्करों द्वारा पिछले कुछ दिनों से रेत की अवैध निकासी कर तहसील के चप्राड विहिरगांव नदीघाट क्षेत्र में अवैध रुप से रेत का संग्रहण किया गया था. इस घटना की जानकारी तहसील प्रशासन को होते ही 15 जून को स्थानीय तहसील प्रशासन द्वारा लगभग 35 ब्रास रेत संग्रह पंचनामा कर जब्त किया गया. जिसके अनुसार 21 जून को स्थानीय तहसील प्रशासन द्वारा जब्त रेत की उठाई की गई है. यह कार्रवाई स्थानीय राजस्व विभाग के तहत नायब तहसीलदार देवीदास पाथोड़े एवं पटवारी मेश्राम द्वारा की गई.

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले कुछ दिनों से तहसील के टेंभरी विहिरगांव नदीघाट से तहसील के ही कुछ रेत तस्करों द्वारा रेत की अवैध निकासी कर नदीघाट क्षेत्र के निजी खेतों में अवैध रूप से संग्रहण किया गया. इस संग्रहण के बारें में स्थानीय तहसील प्रशासन को जानकारी मिलते ही लाखांदूर के तहसीलदार अखिल भारत मेश्राम के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में टेंभरी और विहिरगांव नदीघाट क्षेत्र में लगभग 120 ब्रास रेत जब्त की गई. 

इस रेत संग्रह में दोषी रेत तस्करों के खिलाफ कोई भी कानूनी कार्रवाई नहीं किए जाने से जब्त रेत की तस्करों द्वारा चोरी किए जाने की आशंका व्यक्त की जा रही थी. तहसील प्रशासन द्वारा टेंभरी विहिरगांव नदीघाट क्षेत्र में दो भिन्न स्थानों पर बड़ी मात्रा में रेत का अवैध संग्रहण पाए जाने से प्रशासन द्वारा जब्त किया गया था. जिसके अनुसार विहिरगांव चप्राड नदीघाट मार्ग पर पाया गया लगभग 35 ब्रास रेत का संग्रहण 21 जून को स्थानीय तहसील प्रशासन द्वारा जेसीबी मशीन एवं टिप्पर के जरिए कुल 35 ब्रास रेत उठाई किए जाने की जानकारी दी गई है.

रेत तस्करों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई जरुरी 

पिछले कुछ दिनों में तहसील के रेत तस्करों ने टेंभरी विहिरगांव नदीघाट से पोकलैड़ मशीन एवं टिप्पर द्वारा करोड़ों रुपये कीमत के रेत की तस्करी की है. तस्करी के दौरान स्थानीय ग्रापं प्रशासन और ग्रामीणों द्वारा बाधाएं उत्पन्न नहीं हो इसलिए लाखों रुपये देन का लालच भी दिए जाने की चर्चा है. 

जिसके अनुसार कुछ रेत तस्करों ने विहिरगांव चप्राड नदीघाट मार्ग और टेंभरी नदीघाट क्षेत्र के मंदिर क्षेत्र नजदीक नाले के समीप निजी जमीन पर सैकड़ों ब्रास रेत संग्रहण पाया गया है. इस दौरान स्थानीय तहसील प्रशासन ने इस अवैध रेत संग्रहण को जब्त कर उठाई की कार्रवाई की है. 

लेकिन पिछले कुछ दिनों में गैरकानूनी रूप से रेत की निकासी और यातायात कर रातोंरात मालामाल होने वाले रेत तस्करों के खिलाफ कोई भी कानूनी कार्रवाई नहीं किए जाने से नागरिकों में आक्रोश व्यक्त किया जा रहा है. 

जिसके तहत किसानों के निजी खेतों में रेत के अवैध संग्रहण के आधार पर किसान एवं स्थानीय नागरिकों के बयान दर्ज कर रेत तस्करों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई जरूरी होने की मांग नागरिकों में की जा रही है.