Relief: Bank functioning now from 10 am

कोंढा (कोसरा). पवनी तहसील के सभी अनुदानित स्कूलों तथा कनिष्ठ महाविद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों तथा शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने अपना वेतन राष्ट्रीयकृत बैक से किए जाने की गुहार लगायी है. इस संदर्भ में प्रभारी शिक्षणाधिकारी रवींद्र सलामे को पवनी में ज्ञापन दिया गया.

वर्तमान स्थिति में शिक्षक तथा शिक्षकेत्तर कर्मचारियों का वेतन राष्ट्रीयकृत बैंक के माध्यम से करने की मांग शिक्षक संगठन की ओर से करने के बीच पवनी तहसील मुख्याध्यापक संघ इस व्यवस्था का विरोध कर रहा है. इसके लिए सभी अनुदानित स्कूलों के मुख्याध्यापकों ने हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन भी दिया है.

शिक्षा विभाग के उप संचालक के आदेश के आधार पर राष्ट्रीय कृत बैंक से होने पर शिक्षकों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा. राष्ट्रीय कृत बैंकों में हर दिन ग्राहकों की भारी भीड़ होती है. अधिकांश सामान्य नागरिकों के जनधन, श्रवण बालक, संजय गांधी योजना के खाते राष्ट्रीयकृत बैंकों में ही है. पवनी के कोंढा में राष्ट्रीयकृत बैंक की केवल एक ही शाखा है. इस वजह से इस बैंक में खातेदारों की संख्या बहुत जयादा है.

शिक्षक तथा शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने गृह कर्ज इसी बैंक से लिया है, ऐसे में अगर वेतन दूसरे बैंक के माध्यम से दिया जाएगा तो खातेदारों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ेगा, इसलिए शिक्षणाधिकारी (माध्यमिक) रवींद्र सलामे को तहसील मुख्याध्यापक संघ के अध्यक्ष सुरेश खोब्रागड़े समेत अन्य लोगों ने भी अपनी मांगों का ज्ञापन दिया है.