रामभरोसे चल रहा है प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र

  • .ठेके पर नियुक्त किए गए हैं डॉक्टर
  • .डॉक्टरों तथा नर्सो के पद रिक्त

गोंडउमरी (सं). यहां का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र राम भरोसे चल रहा है. इस स्वास्थ्य केंद्र में अनेक पद रिर्क हैं, न स्थायी डॉक्टर हैं और न ही नर्स हैं. किसी भी डॉक्टर को यहां स्थायी पद पर नियुक्ति नहीं मिली है. जो डॉक्टर यहां सेवाएं दे रहे हैं, उन्हें ठेके के आधार पर नियुक्त किया गया है. यह स्वास्थ्य केंद्र भंडारा और गोंदिया जिलों की सीमा पर स्थित है. लेकिन इस स्वास्थ्य केंद्र में केवल भंडारा के ही मरीजों का इलाज किया जाता है, अगर गोंदिया से कोई मरीज आ जाए तो उसे वापस भेज दिया जाता है.

गोंडउमरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉ. वाघमारे की वर्ष पहले ही बदली हुई है. उनकी बदली के बाद उसके स्थान पर दूसरे डॉक्टर की नियुक्ति इस स्वास्थ्य केंद्र पर की ही नहीं गई. वर्तमान में इस चिकित्सा केंद्र में ठेके के आधार पर दो डॉक्टरों की नियुक्ति की गई है.

कोरोना काल में सर्दी, खांसी, बुखार होने पर ये दोनो ही डॉक्टर मरीजों को क्वरंटाइन करते हैं, इसलिए यहां पर इलाज के लिए आने से मरीज करताते हैं. रोगियों को समय पर इलाज न होने के कारण यहां के लोग खासे नाराज हैं. यहां के पदाधिकारी, ग्राम पंचायत स्वास्थ्य समिति भी इस स्वास्थ्य केंद्र की हालत पर ध्यान नहीं दे रहे हैं. इस स्वास्थ्य केंद्र में रात के समय एक भी डॉक्टर सेवा के लिए उपस्थित नहीं रहता. सिर्फ गोंडउमरी ही नहीं वांगी, महालगांव, पलसगांव, वडद उपक्रेंद्रों में भी डॉक्टर तथा नर्स की नियुक्ति की मांग लंबे समय से की जा रही है, लेकिन इस मांग पर ध्यान नहीं दिया गया, जिससे यहां के स्वास्थ्य केंद्र की हालत दिनों दिन खराब होती जा रही है.