11 octbh Kheto me kata huaa dhan, Rain

तुमसर. तहसील में रविवार को दोपहर 2 बजे से धुंआधार बारिश होने से किसानों को भारी नुकसान पहुंचा है. किसानों के मुंह का निवाला छीन गया है. तहसील के ग्रामीण परिसर के जनप्रतिनिधियों की ओर से सरकार से तत्काल किसानों को आर्थिक मदद प्रदान करने व फसल बीमा लागू करने की मांग की गई है. 5 दिनों पूर्व भी बारिश होने से किसानों को भारी नुकसान पहुंचा था. तहसील में बेमौसम तेज बारिश होने से किसानों की हल्के धान खड़ी व कटी हुई फसल के साथ ही अन्य फसलें बर्बाद हुई हैं.

फसलें हुई चौपट

तहसील के  सिहोरा, चुल्हाड, बिनाखी, रेंगेपार, पांजरा, सिलेगांव  के साथ ही अन्य गांवों में बेमौसम बारिश  होने से किसानों के मुंह का निवाला छीन गया है. किसानों की धान की फसल के साथ ही अन्य सब्जी की फसलें पूरी तरह से तबाह हो चुकी है.  इसके पूर्व बारिश के मौसम में भारी बारिश व प्रशासन की गलत नीति के कारण तहसील अनेक गांवों के किसानों की धान की फसल बर्बाद हुई थी. किसानों की ओर से सरकार से आर्थिक सहायता देने की गुहार लगाई गई थी. उन्हें सहायता के नाम पर अब तक फूटी कौड़ी भी नहीं दी गई.

मुआवजा देना की मांग

इसके बाद बेमौसम बारिश ने उनकी आशाओं पर पानी फेर दिया है. पंस सदस्य हीरालाल नागपुरे  ने किसानों के साथ खिलवाड़ नहीं करते हुए बेमौसम बारिश से तबाह हुए किसानों की खेती का तत्काल सर्वेक्षण कर मुआवजा देने की मांग की है.