Market on Road, Yavatmal
File Photo

    तुमसर. वर्तमान में कोरोना की दूसरी लहर में प्रकरणों में काफी उछाल देखने को मिल रहा है. तहसील में रोजाना 10 से 15 लोगों की टेस्ट पाजिटिव आ रही है फिर भी शहर एवं ग्रामीण परिसर में विवाह व अन्य कार्यक्रमों के दौरान भारी भीड़ देखी जा रही है. वहीं शहर के बाजार परिसर में भी कोरोना की ओर अनदेखी कर भीड़ जमा की जा रही है. यदि कोरोना को हल्के में लिया गया तो ग्रामीण एवं शहरवासियों को भारी पड़ सकता है.  जिले के साथ ही तहसील में कोरोना महामारी से संक्रमितों के मामले बढ़ने का सिलसिला लगातार जारी है. यह सब कुछ लोगों द्वारा सरकार की गाइडलाइन की सरेआम धज्जियां उड़ाने के कारण हो रहा है.

    नियमों का नहीं हो रहा पालन

    वर्तमान में तहसील में कोरोना संक्रमितों की संख्या में वृद्धि हो रही है. साथ ही कोरोना महामारी के कारण जिले में  मृत्यु होना अब भी जारी है. प्रशासन द्वारा गाइडलाइन को सख्ती से लागू नहीं करवा पाने के कारण प्रकरणों में वृद्धि देखने को मिल रही है. जिला प्रशासन द्वारा जो गाइड़लाइन जारी की गई हैं उसका सभी दूकानदारों एवं ग्राहकों को भी पालन करने के लिए कहा गया था. लेकिन यह सब कुछ कागजों तक ही सीमित दिखाई दे रहा है. पहले की तरह गांवों से लोग बाजार पहुंच रहे हैं. जिससे बाजार में काफी भीड़ देखने को मिल रही है. जहां तक कोरोना महामारी के दिशा-निर्देशों की बात है तो कुछ लोग इसका पालन कर रहे हैं. तो कहीं पर इसका पालन नहीं के बराबर हो रहा है. बाजार परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाकर बगैर  मास्क पहने सब कार्य किए जा रहे हैं. 

    प्रशासन नहीं उठा रहा सख्त कदम

    प्रशासन को इस सबकी जानकारी होने के बावजूद भी इस ओर कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं. नियमों का उल्लघंन करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. जिससे उनके हौंसले बुलंद हो रहे हैं.  अनेक शहरवासियों  ने इस तरह की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यदि इसी तरह से सरकार की गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाने का सिलसिला जारी रहा तो आने वाले दिनों में कोरोना महामारी के प्रकरणों में काफी बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है. अभी नागपुर में 7 दिन का लाकडाउन किये जाने से वहां रहने एवं काम करने वाले लोग क्षेत्र में आकर कोरोना की प्रसाद बांट सकते हैं. इस ओर भी ध्यान देने की आवश्यकता है.