corona

    भंडारा. जिले में कोरोना मरीजों की संख्या दिन ब दिन कम होकर जुलाई महीने की शुरूआत में ही पहले एवं दुसरे सप्ताह में चौथी बार कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 0 आयी है. एक वर्ष के पश्चात जुलाई महीने के 1, 5, 6 एवं 10 जुलाई 2021 को कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 0 आने से स्वास्थ्य विभाग, जिला प्रशासन एवं भंडारा जिले के लिए राहत की बात है. भंडारा जिले में 27 अप्रैल 2020 को कोरोना पाजिटिव का पहिला मरीज मिला था.

    880 व्यक्तियों की जांच

    शनिवार को भंडारा जिले में फिर से एक बार कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 0 आयी है. 880 व्यक्तियों की जांच करने पर एक भी कोरोना पाजिटिव मरीज नहीं आया है. जिले का आज का पाजिटिविटी रेट रेट 0 होकर अभी केवल 9 सक्रीय मरीज है. 

    शनिवार को 6 मरीज डिस्चार्ज

    शनिवार को 6 मरीज ठीक होकर घर लौटे है. ठीक हुए मरीजों की संख्या 58353 हुई होकर शनिवार को एक भी व्यक्ती कोरोना बाधित नहीं आया है. कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 59492 हुई है. मरीज ठीक होने का प्रमाण 98.09 प्रश. है. 

    अभीतक 04 लाख 23 हजार 188 व्यक्तियों के गले के स्वैब की जांच की गयी. उसमें 59492 व्यक्ति कोरोना पाजिटिव आए है. 

    जिले के सातों तहसीलों में कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 0

    शनिवार को भंडारा जिले में कोरोना पाजिटिव आने वालों में भंडारा तहसील 00, मोहाडी तहसील 00, तुमसर तहसील 00, पवनी तहसील 00, लाखनी तहसील 00, साकोली तहसील 00 एवं लाखांदूर तहसील 00 व्यक्तियों का समावेश है. 

    58353 मरीज ठीक हुए

    अभीतक 58353 मरीज ठीक हुए है. जिले में अभी कोरोना बाधितों की संख्या 59492 हुई होकर सक्रीय 9 मरीज है. शनिवार को एक भी कोरोना पाजिटिव मरीजों की मृत्यु नहीं हुई होकर जिले में कोरोना पाजिटिव मरीज मृत्यु की कुल संख्या 1130 हुई है. 

    भंडारा जिले में केवल 0.02 प्रश. सक्रीय मरीज

    मरीज ठीक होने का प्रमाण 98.09 प्रश. है. तो जिले का मृत्युदर 01.90 प्रश. इतना है. जिले में केवल 0.02 प्रश. सक्रीय मरीज है. 

    कोविड जांच प्रिस्क्राईब करने के निर्देश: जिलाधिकारी संदीप कदम

    सरकारी एवं निजी अस्पताल में ओपीडी विभाग में आनेवाले कोई भी बुखार के मरीजों की कोविड जांच प्रिस्क्राईब करने के निर्देश जिलाधिकारी संदीप कदम ने दिए है. 

    नागरिकों से आह्वान 

    कोरोना से बचने के लिए मास्क यहीं मुख्य संरक्षक है, मास्क का हमेशा व सही उपयोग करें, साबुण व पानी से बार बार कम से कम 20 सेकंद हाथ धोने, साबुण व पानी की सुविधा उपलब्ध नहीं होने पर अल्कोहोलयुक्त हैंड सैनिटायझर का वापर करे.