school

    • 1,321जिप स्कूलों की संख्या 
    •  898 जिले में कुल गांव
    • 889 जिले में गांव कोरोनामुक्त 

    भंडारा. कोरोना महामारी के कारण पिछले डेढ़ माह से स्कूल, महाविद्यालय समेत अन्य शैक्षणिक संस्था है. लेकिन आनलाइन के माध्यम से शिक्षा का कार्य जारी है. कोरोना का संक्रमण कम होने की स्थिति में बताया जा रहा है कि कुछ ही दिनों में स्कूलो, महाविद्यालयों की घंटियां बज सकती हैं. इस पर फैसला लेने के लिए गांव के स्तर पर सरपंच, ग्राम सेवक, स्कूल व्यवस्थापन समिति के अध्यक्ष की समिति गठित की गई है. 

    जिले में जिला परिषद की कुल स्कूलों की संख्या 1,321 हैं. जिले में कुल 898 गांव हैं, जिनमें 889 गांव कोरोना मुक्त हैं. तहसील स्तर पर कोरोना से मुक्त हुए गांवों की संख्या भंडारा में 186, तुमसर 150, मोहाड़ी 108, लाखनी 102, पवनी 161, साकोली 93 एवं लाखांदूर के 89 गांवों का समावेश है.  

    भंडारा जिले की अनेक स्कूलों में झूम मिटिंग के माध्यम से आनलाइन शिक्षा दी जा रही है. प्राथमिक शाला के बाद माध्यमिक तथा कनिष्ठ कोरोना मुक्त गांवों में शुरू किए जाए, इसके लिए सरकर की ओर से ग्राम पंचायत तथा शिक्षा विभाग को जिम्मेदारी न सौंप कर कोरोना मुक्त गांव में स्कूल  शुरू करने के आदेश दिए गए हैं.

    लेकिन कोरोना की पार्श्वभूमि में अभी स्कूल खोलने पर हिचक महसूस की जा रही है. स्कूल शीघ्र खोले जाने की संभावना के बीच जिले के सभी गांव में स्कूल प्रशासन को तैयार रहने के लिए कहा गया है. कुछ शिक्षक स्कूल में तो जा रहे हैं, लेकिन विद्यार्थियों को स्कूल जाने की अनुमति नहीं है.  शिक्षक जैसा भी संभव हो पा रहा है, विद्यार्थियों को शिक्षा देने का कोशिश कर रहे हैं.