Plandur Gym

पालांदूर (सं). पालांदूर के संजयनगर टोली में एक व्यायामशाला होने के बावजूद, सामग्री की कमी के कारण शोपीस बना है. लाखनी तहसील में सबसे बड़ी ग्रापं होनेवाला गांव यानि पालांदूर है. जिससे हमेशा ही भीड़ रहती है. इस गांव में वर्ष 2012-13 में 2 लाख 74 हजार 767 रुपये निधि से व्यायामशाला का निर्माण किया गया. हालांकि युवकों को व्यायाम करने इस व्यायामशाला में व्यायाम के अन्य सामग्री उपलब्ध नहीं कर दी गई. नतीजतन, व्यायामशाला पिछले 7-8 वर्षों से अव्यवस्था की स्थिति में है. इसी तरह का एक निर्माण निधि जुटाने पालांदूर में सुभाष मित्र मंडल की जमीन पर कई वर्ष पहले किया गया था.

इस समाज मंदिर का अस्तित्व नष्ट हो चुका है. इस इमारत में फिलहाल की स्थिति में अभ्यासिका है. अभ्यासिका के लिए जो सामग्री आवश्यक है. इस कारण यह अभ्यासिका कैसी ऐसा सवाल खड़ा होता है. व्यायामशाला में बिजली की सुविधा भी समीपस्थ जिप शाला से वायर द्वारा की गई. इस इमारत में युवक स्पर्धा परीक्षा की तैयारी करते हुए दिखाई देते हैं.

Palandur Gym

इस बारे में अभ्यासु छात्रों को पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि सरपंच ने इस व्यायामशाला में पढ़ाई करने के लिए मंजूरी दी है. व्यायाम के सामग्री की कमी से युवाओं को खुली सड़क पर व्यायाम करना पड़ रहा है. व्यायामशाला में सभी प्रकार की सुविधाए उपलब्ध करा देनी चाहिए. व्यायामशाला का परीक्षण कर क्रीड़ा विभाग द्वारा अनुदान प्राप्त कर देने के लिए स्थानीय ग्रापं प्रशासन ने प्रयास करना चाहिए ऐसी मांग पालांदूर के युवाओं ने की है.