घरेलू गैस सिलेंडर पर सब्सिडी केवल नाम के लिए उपभोक्ता परेशान

भंडारा. हर महीने गैस सिलेंडर पर सब्सिडी घटती दिख रही है. भले ही इसमें कई तकनीकी बाते शामिल हैं, लेकिन यह गरीब नागरिकों को प्रभावित कर रहा है. 

गैस सिलेंडर की कीमतें एक दशक से अधिक समय से बढ़ रही है. आमतौर पर 10 वर्ष पूर्व 400 रु. अभी जो सिलेंडर उपलब्ध है, वह 600 से 700 रुपये इस दर पर उपलब्ध हो रहे है. विशेष रूप से सब्सिडी के बीच अंतर कम या ज्यादा जिलेवार है. दिसंबर के महीने में 705 रु. में गैस सिलेंडर उपलब्ध है इस पर सब्सिडी 125 रुपये है. लेकिन जो सिलेंडर गरीबों को मिलता है वह सस्ता नहीं है. वर्तमान में भंडारा जिले में 2 लाख 95 हजार 843 गैस सिलेंडर धारक है. जिले में 22 गैस वितरक धारक है. खाते से जुड़े लाभार्थियों को सब्सिडी मिल रही है. लाभ नगण्य है. दिसंबर में सिलेंडर की कीमतें बढ़ गई. लेकिन सब्सिडी 100 रु. के अंदर होने का दिखाई दे रहा है. 

होम डिलीवरी के लिए दी जाती है अतिरिक्त राशि 

सिलेंडर की कीमत वरिष्ठ स्तर पर निर्धारित की जाती है. इसमें वह भी राशि शामिल है जब तक सिलेंडर ग्राहक के घर तक नहीं पहुंचाया जाता है. लेकिन ऐसा नहीं होता है. सिलेंडर की होम डिलीवरी करनेवाले अतिरिक्त पैसे मांगते है. यह राशि 10 से 20 रुपये तक है. यह राशी गैस धारकों के लिए एक जुर्माना है. यह प्रकार ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक दिखाई देता है.