3 हत्याओं की जांच में सफलता

  • कोरंबी मामले का खुलासा, LCB की हैट्रिक

भंडारा. भंडारा शहर से 4 किमी दूरी पर स्थित कोरंबी देवी गांव में नदी किनारे बोरे में बंद लाश बरामद की गयी थी. स्थानीय पुलिस की अपराध शाखा की टीम की जांच में पता चला कि लाश मृतक नंदकिशोर रहांगडाले उम्र (34) वर्ष की थी, वह गोंदिया जिले के गोरेगांव तहसील के नावाटोला का निवासी था.

एलसीबी पुलिस निरीक्षक जयवंत चव्हाण ने बताया कि 10 दिसंबर को कोरंबी देवी से सटे नदी किनारे पर बोरी में बंद लाश बरामद हुई थी.  पुलिस अधीक्षक वसंत जाधव एवं एएसपी अनिकेत भारती मौके पहुंचे थे. उन्होंने एलसीबी शाखा एवं भंडारा पुलिस स्टेशन की टीम को मामले की जांच का ज़िम्मा सौंपा. मृतक गोंदिया के गोरेगांव तहसील में नावाटोला का निवासी नंदकिशोर रहांगडाले (34) था. पेशे से ठेकेदार था.  पुलिस को उसकी पत्नी योगेश्वरी उर्फ गुड्डी रहांगडाले (32) पर ही शक हुआ. पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि नंदकिशोर की पत्नी योगेश्वरी का अनैतिक संबंध पाथरी निवासी सोमेश्वर पारधी (39) के साथ में था. इसकी भनक नंदकिशोर को मिली थी. इसके बाद से नंदकिशोर को रास्ते से हटाने का षड्यंत्र रचा गया. इसमें सोमेश्वर को मुंडीपार निवासी लेखराम टेंभरे (39) ने मदद की.

सालेभाटा में हुई हत्या

4 दिसंबर को शाम में वलनी खापरखेडा से नंदकिशोर एवं योगेश्वरी मोटरसाइकिल से नवाटोला को जाने के निकले.  लाखनी तहसील के सालेभाटा में योगेश्वरी ने गाड़ी रूकवाई. इसी समय वहां पर हुंदई कार रुकी. सोमेश्वर पारधी एवं लेखराम टेंभरे नीचे उतरे और नंदकिशोर के सिर पर सलाक से वार कर हत्या कर दी. इसके बाद सोमेश्वर, लेखराम एवं योगश्वरी ने सबूत मिटाने के इरादे से लाश को बोरी में भरकर भंडारा के नज़दीक वैनगंगा नदी पर बने पुल से फेंक दिया. प्राप्त जानकारी के अनुसार पाथरी निवासी सोमेश्वर पारधी (39), नवाटोला निवासी योगेश्वरी उर्फ गुड्डी रहांगडाले (32) एवं मुंडीपार निवासी लेखराम टेंभरे (39) को गिरफ्तार कर लिया गया है.

महीने में शानदार हैट्रिक

पिछले महीने भर में हत्या के बेहद पेचिदगीपूर्ण 3 मामले उजागर हुए थे. लेकिन नवनियुक्त जिला पुलिस अधीक्षक वसंत जाधव, अपर पुलिस अधीक्षक अनिकेत भारती के मार्गदर्शन में तीनों मामले की सफल जांच कर हैट्रिक की है. कोरंबी मामले में पुलिस निरीक्षक जयवंत चव्हाण, एपीआई लांबोड, मट्टामी, गायकवाड, पवार, पुलिस उप निरीक्षक उइके, गभने, हवालदार तुलसीदास मोहरकर, नितिन महाजनर, नायक विजय राऊत, दिनेश आंबाडारे, ईश्वर कुथे, सिपाही मंगेश मालोदे, चौरे, कटौते, भंडारा पुलिस स्टेशन में थानेदार सुधाकर चव्हान, उपनिरीक्षक अरविंदकुमार जगने, फौजदार श्रीवास, नायक बुरडे, बंसोड की टीम ने कार्यवाही को पूरा किया.