Tiger Attack, Cow

    आंबाड़ी . भंडारा तहसील के मानेगांव बाजार समीप तिड्डी परिसर में बाघ ने आतंक मचा कर तीन चार दिन पूर्व तिड्डी के एक गाय पर हमला कर घटनास्थल पर ही मौत के घाट उतारा. इस घटना से गांव एवं परिसर में दहशत फैली है. जिससे खेती के कार्य प्रभावित हुए हैं. फिलहाल खेती का मौसम शुरू होकर किसानों ने रोपाई के काम की शुरूआत की है. यह परिसर कुछ प्रमाण में जंगल व्याप्त होने से इस परिसर में हमेशा वन्यप्राणियों के साथ पशुओं का भी निवास रहता है. 

    प्राप्त जानकारी के अनुसार तीन-चार दिनों के पूर्व तिड्डी के बलिराम खंगार की जानवरों को गांव के समीप वन में चराने के लिए ले गया था. उस समय बाघ ने गाय पर हमला कर घटनास्थल पर ही मौत के घाट उतारा था. शाम होने के पश्चात गाय घर वापिस नहीं आने से पशुपालक बलिराम खंगार ने खोजबीन करने पर मृत अवस्था में दिखायी दी. 

    इस घटना की जानकारी वनविभाग को दी गयी. वन विभाग ने पंचनामा किया. इस घटना से पशुपालक का अंदाजन 25 हजार रु. का नुकसान हुआ है. वन विभाग ने नुकसानग्रस्त पशुपालक को आर्थिक नुकसान भरपाई देने की मांग किसानों की ओर से की जा रही है. बाघ की दहशत के कारण खेती के काम प्रभावित होकर किसानों के साथ खेत मजदूर वन समीप खेत परिसर में जाने के लिए डर रहे हैं. तो पशुपालक जानवरों को चरवाह के लिए वन की ओर ले जाने के लिए डर रहे हैं. वन विभाग से वन्य प्राणियों का बंदोबस्त करने की मांग ग्रामीणों द्वारा की जा रही है.