तिरोड़ी तुमसर पैसेंजर ट्रेन बंद होने से गया गरीबों का रोजगार

  • तत्काल शुरु करवाकर राहत दिलाए आर्थिक समस्याओं से जूझ रहे है किसान

तुमसर. लॉकडाउन के बाद से तिरोड़ी तुमसर रोड पैसेंजर ट्रेन बंद होने से म.प्र. एवं तहसील के ग्रामीण परिसर के लोगो को अपने छोटे छोटे व्यवसाय से वंचित होना पड़ा है. इस कारण उन्हें आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ रहा है.

वर्तमान में बावनथड़ी पुल पर से वाहनों का यातायात पूर्णता बंद होने से तिरोड़ी- तुमसर रोड के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन क्षेत्र के साथ ही मध्यप्रदेश के लोगो के लिए हितकारी साबित होती इसमे कतई संदेह नहीं है निधि के अभाव में बावनथड़ी पुल के मरम्मत का कार्य कब शुरु किया जाता है यह कहा नही जा सकता है जिलाधिकारी द्वारा सबंधित पुल के मरम्मत कार्य के लिए डीपीडीसी अथवा मॉयल की निधि से तत्काल मंजूरी देने एवं जिस तरह 15 अक्टूम्बर से लंबी दूरियों की ट्रेन शुरु की गई है वैसे ही तिरोड़ी ट्रेन भी शुरु करवाकर गरीबो को राहत दिलाने की मांग राका पदाधिकारी दिलीप सोनवाने द्वारा की गई है.

उन्होंने बताया कि, तिरोड़ी से तुमसर रोड़ तक दिन में 4 बार ट्रेन का आवागमन होता था. इस ट्रेन से दूध, दही एवं सब्जी भाजी बेचने के लिए अनेक किसानों की महिलाएं शहर में आती थी. इसके माध्यम से ही अपने परिवार का पालन पोषण करती थी. लेकिन गत 8 माह से ट्रेन का यातायात बंद होने से उनका धंदा भी पूरी तरह ठप्प हो गया है. इससे उनकी आर्थिक स्थिति गम्भीर हो चुकी है. साथ ही इस ट्रेन से अनेक नोकरिपेशा लोग भी आवागमन करते थे.

ट्रेन बंद होने से उन्हें भी काफ़ी परेशानीयो के दौर से गुजरना पड़ रहा है. इसके अलावा रेल मार्ग पर स्थित तहसील एवं म.प्र. के अनेक लोग इलाज के लिए शहर आते थे वे भी काफी परेशान नजर आते हैं. अभी कुछ दिनों बाद शालाए भी शुरु होने के आसार नजर आते है. ऐसे उपरोक्त ट्रेन से आवागमन करने वाले शेकडो विद्यार्थियों को भी परेशानी के दौर से गुजरना पड़ेगा इस कारण सोनवाने ने अन्य ट्रेनों की तरह महाराष्ट्र एवं मध्यप्रदेश को जोड़ने वाली तुमसर रोड़- तिरोड़ी ट्रेन को शुरु करवाकर किसान, विद्यार्थी, नोकरिपेशा, मरीज एव सर्वसामान्य नागरिकों को राहत दिलाने की मांग की गई है.