भंडारा जिले के शहीदों को श्रृद्धाजंलि आर्पित

भंडारा. कर्तव्य पथ पर आगे बढ़ते हुए शहीद जवानों की स्मृति में देशभर में पुलिस प्रशासन की ओर से 21 अक्टूबर का दिन पुलिस शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस मौकै पर पुलिस मुख्यालय में पुलिस हुतात्मा स्मारक स्मृति स्तंभ पर पुष्पांजलि अर्पित कर शहीदों को सलामी दी गई.

जिला पुलिस अधीक्षक वसंत जाधव ने इस मौके पर कहा कि आज का दिन पुलिस प्रशासन के लिए अत्यथिक महत्व का दिन है. उन्होंने बताया कि इस वर्ष भी पूरे भारत से 268 पुलिस अधिकारियों, कर्मचारियों ने देश की सुरक्षा करते हुए अपने प्राणों की आहुति दी.

पुलिस अधीक्षक ने इस मौके पर कहा कि 21 अक्टूबर, 1959 को लद्दाख की हद में आने वाले भारत-तिब्बत सीमा पर 16 हजार फुट की ऊंचाई पर कड़कडाती ठंड में केंद्रीय अतिरिक्त पुलिस दल के 10 जवान गश्त लगाते वक्त हिंदी-चीनी भाई-भाई ऐसा नारे लगाने वाले चीन सैनिकों ने उन पर हमला कर दिया. इसका पता चलते ही सीमा की सुरक्षा में लगे कम जवानों तथा कम शस्त्रों की परवाह न करते हुए इन जवानों ने मातृभूमि  की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी थी.

इस कार्यक्रम में अपर पुलिस अधीक्षक अनिकेत भारती, उप विभागीय पुलिस अधिकारी रीना जनबंधु, आर पी देशपांडे, गजानन कंकाल, चंद्रशेखर चकाटे, प्रशांत मिसाले, पवन सिंह समेत पुलिस मुख्यालय के कर्मचारी तथा पुलिस परिवार के लोग उपस्थित थे.