Masks and ventilation effective beyond social distance to prevent the spread of corona: research
Representative Picture

    मोहाड़ी. कोरोना की महामारी के मद्देनजर राज्य सरकार ने मास्क पहनने की अनिवार्यता की है. मास्क का उपयोग हर व्यक्ति करें या नहीं इसे लेकर अलग-अलग राय सामने आई है. कुछ लोग मास्क की अनिवार्यता को सही मानते हैं तो कुछ लोग इसे गैर जरूरी बताते हैं. मास्क के प्रति सभी की राय एक जैसी नहीं है, यह अलग बात है कि अधिकांश लोग मास्क पहनन के पक्षधर दिखायी दे रहे हैं.

    मोहाडी के भाजपा कार्यकर्ता टिंकू श्रीपाद तथा माधव डेकाटे का कहना है कि मास्क के बारे में जिला प्रशासन को गंभीरता से ध्यान देना चाहिए. इन दोनों नेताओं ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, विधानसभा में विरोधी पक्ष नेता देवेंद्र फडणवीस, भंडारा के जिलाधिकारी, जिला पुलिस अधीक्षक भंडारा के पास भेजे गए ज्ञापन में कहा है.

    देश में कोरोना महामारी के संकट दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है. भंडारा जिले में भी कोरोना के खिलाफ जंग जारी है. कोरोना के खिलाफ जंग में अनेक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हुए हैं. फिर भी उन्होंने धैर्य नहीं छोड़ा है. वर्तमान में कोरोना के मरीजों को ऑक्सिजन की कमी महसूस हो रही है.

    ऑक्सिजन की कमी होने के कारण बहुत से लोगों को अपनी जान भी गंवाई है. महाराष्ट्र सरकार के आदेश अनुसार लोगों को मास्क लगाना अनिवार्य है, इस कारण ग्रामपंचायतों / नगर परिषद/ महानगरपालिका गांव स्तर पर मास्क का उपयोग न करके करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की है, इसके माध्यम से लाखों रूपए की राजस्व रशि जमा की गई.

    इतना नहीं, अनेक लोगों के खिलाफ फौजदारी मामला भी दर्ज किया गया है. डॉक्टर विजय सव्वालाखे कोरोना मरीजों का बिना किसी झिझक के  मास्क के बिना इलीज कर रहे हैं, इस वजह से इस संकट में डॉक्टर भगवान के रूप में सामने आए हैं, अगर ऐसा कहा जाए तो इसमें कुछ गलत नहीं होगा.