corona test
File Photo

भंडारा. कोरोना इस संक्रमक बीमारी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. इस वायरस को लेकर अभी भी नागरिकों में कई गलत धारणाएं है. इन गलत धारणाओं को मिटाने के लिए स्वयंसेवक संगठन एवं समाज के प्रतिष्ठित लोगों को स्वास्थ्य संबंधी जागरूकता पैदा करने के लिए प्रशासन के साथ सहयोग करना चाहिए ऐसा आह्वान जिलाधिकारी संदीप कदम ने किया. जिप. सभागृह में आयोजित स्वयंसेवी संस्था के बैठक में वह बोल रहे थे.

बैठक में निवासी उपजिलाधिकारी शिवराज पडोले एवं विभिन्न स्वयंसेवी संस्था के प्रतिनिधि उपस्थित थे. कोरोना एवं उपचार इस बारे में नागरिकों के मन में कई गलतफैमियां है. विशेषता एंटिजेन जांच के बारे में नागरिकों के मन में डर है. इस कारण लक्षण रहने के बावजूद भी नागरिक जांच नहीं कर रहे है. लक्षण बढने के बाद जांच के लिए आते है लेकिन तब तक देरी हो जाती है.

जिले में बढती मृत्यु संख्या के लिए देरी से जांच करना यह एक मुख्य कारण है. इस स्थिति में स्वयंसेवक संस्था ने नागरिकों में जांच करने संदर्भ में जनजागृती करना आवश्यक होने का जिलाधिकारी ने कहां.

उन्होंने इस बैठक में स्वयंसेवक संस्था के प्रतिनिधियों को महत्वपूर्ण सुचनाएं दी. जिलाधिकारी ने कहां कि मरीज बढने के कारण स्वास्थ्य यंत्रणा पर तनाव आया है. लेकिन सुविधाओं में सुधारना करने के लिए हम इस पर स्वयं ध्यान देंगे. प्रत्येक मरीज को योग्य एवं समय पर उपचार मिले इसके लिए प्राधान्य दिया जाएगा.

लक्षण दिखाई देने पर डर नहीं रखते हुए तुरंत जांच करवाए. जांच में देरी करने पर खतरा ज्यादा रहता है. इस कारण नागरिकों ने अधिक से अधिक जांच करवाए ऐसा आह्वान जिलाधिकारी ने किया. कोरोना की श्रृंखला को तोडने के लिए सुरक्षित दुरी, मास्क एवं सैनिटाजर का इस्तेमाल आवश्यक होने का बताते हुए जिलाधिकारी ने कहां कि मास्क इस्तेमाल करना अनिवार्य है.

लोगों ने सुरक्षित दुरी का पालन करे एवं मास्क का इस्तेमाल करे इसके लिए सामाजिक संस्था ने जागरूकता मुहिम चलाए ऐसा उन्होंने आह्वान किया. इस अवसर पर मुख्य कार्यकारी अधिकारी भुवनेश्वरी एस., जिला पुलिस अधिक्षक अरविंद सालवे, जिला शल्य चिकित्सक डा. प्रमोद खंडाते, डा. पियुष जक्कल, स्वास्थ्य अधिकारी डा. माधूरी माथुरकर, निवासी वैद्यकीय अधिकारी निखिल डोकरिमारे, डा. प्रशांत उईके उपस्थित थे.