मतदाता सूची पुर्निरीक्षण कार्यक्रम घोषित

पवनी (सं). चुनाव आयोग दिल्ली तथा मुख्य चुनाव अधिकारी मुंबई की ओर से जारी किए गए परिपत्रक के अनुसार 1 जनवरी, 2019 की अर्हता दिनांक के आधार पर फोटो के साथ मतदाता सूची के विशेष पुर्निरीक्षण कार्यक्रम की घोषणा की गई है. इस आदेश संबंधी पत्र भंडारा के जिलाधिकारी ने सभी तहसीलदारों को प्रेषित कर दिए हैं.

कोरोना महामारी के मद्देनज़र कई स्थानों पर चुनाव को टाले जाने की स्थिति में भंडारा जिला परिषद तथा इसके अंतर्गत आने वाली पंचायत समितियों तथा ग्राम पंचायत पर प्रशासक की नियुक्ति की गई. धीरे-धीरे लॉकडाउन के नियमों को शिथिल करना शुरु किया गया और आने वाले समय में चुनाव की रणभेरी बजने की संभावना भी व्यक्त की जाने लगी है.

निकट भविष्य में अगर चुनाव कराने की घोषणा हुई तो मतदाता सूची पूरी तरह से तैयार रहे, उसमें किसी भी तरह की त्रुटि न रहे, इसके लिए मतदाता सूची पुर्निरीक्षण का काम शुरु करने का कार्यक्रम चुनाव आयोग ने बनाया है. पुर्निरीक्षण कार्यक्रम में मतदान केंद्र का सुसूत्रीकरण तथा प्रमाणीकरण करने, मतदाता पहचान पत्र के संदर्भ में जो भी त्रुटियां हैं, उसे दूर करने, मतदान क्षेत्र सीमा की पुनर्रचना करने का प्रस्ताव करते हुए मतदान केंद्र की सूची को स्वीकृति देकर उसे मंजूर के लिए 31 अक्टूबर, 2020 तक भेजा जाएगा. नमूना 1 तथा 8 तैयार करके पूरक तथा एकीकृत प्रारूप सूची तैयार करने की अंतिम तिथि 15 नवंबर रखी गई है, जबकि 16 नवंबर को इस मतदाता सूची को सार्वजनिक किया जाएगा.

मतदाता सूची में सुधार तथा इस बारे में अन्य जानकारी देने के लिए 16 नंवबर से 15 दितंबर की कालावधि तय की गई है. विशेष मुहिम कालावधि में दावा तथा शिकायतें मुख्य चुनाव आयुक्त महाराष्ट्र की ओर से तय किए गए, दो शनिवार तथा दो रविवार को स्वीकार किए जाएंगे. 5 जनवरी को दावे तथा शिकायतों का निस्तारण किया जाएगा और उसे स्वीकृति के लिए चुनाव आयोग के पास भेजा जाएगा और उसके बाद 15 जनवरी को मतदाता सूची की जारी की जाएगी. उक्त जानकारी देते हुए नायब तहसीलदार अरुणा देशभ्रतार ने पवनीवासियों से अपील की है कि अगर उनके मतदाता पहचान पत्र में किसी भी तरह की त्रुटि हो तो वे इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.