अंडरग्राउंड रेलवे पुल के नीचे जमा रहता है पानी

    • वरठी एकलारी सातोना मार्ग बना जानलेवा 

    वरठी. सातोना मार्ग पर एकलारी में रेलवे गेट थी. शुरुआत में ट्रेनें कम होने के कारण यहां भीड़ कम रहती थी. किंतु अभी ट्रेनों एवं वाहनों की संख्या बढ़ने से समय-समय पर रेलवे गेट बंद करनी पड़ती है. इससे मार्ग के दोनों ओर वाहनों की कतारें लगती है.

    इस पर उपाय के रूप में वह गेट तोड़कर रेलवे विभाग ने रेलवे गेट मुक्त अभियान के तहत अंडरग्राउंड रेलवे पुल बांधा किंतु वहां के पुल के नीचे हमेशा भारी मात्रा में पानी जमा रहता है. वहां का पानी व्यवस्थित नाली में जाने के लिए बड़ी पाइप लाइन लगाई गई है.  किंतु शो पीस बनी हुई है.

    अंडरग्राउंड रेलवे पुल बनाते समय जो गलितयां की गई है, उसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ता है.  बारिश का पानी बाहर नहीं निकलता है. उल्टा उसी जगह जमा रहता है.  आवागमन करनेवाले यात्रियों को एक दो फीट जमा हुए पानी से जाना पड़ता है. पैदल चलने वाले यात्री रेलवे पटरी से आवागमन करते हैं, ऐसे समय कोई ट्रेन आने पर दुर्घटना भी हो सकती है.   

    कई गांव के लोग वरठी में रेलवे स्टेशन, पुलिस स्टेशन, शाला, महाविद्यालय, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, बड़ा बाजार होने के कारण बीड, पाहुणी, सातोना, एकलारी एवं आसपास के गांव के लोग आवागमन करते हैं.  रेलवे प्रशासन ने उक्त समस्या को हल करना चाहिए.