canal bridge, palandur

  • पाथरी निवासियों का सवाल

पालांदूर (सं). पालांदूर जिप क्षेत्र अंतर्गत आने वाले मुख्य गांवों में से पाथरी को एक कृषि गांव के रूप में जाना जाता है. पालांदूर से पाथरी की ओर जाने वाली सड़क एवं इस सड़क पर होने वाले नहर के पुल का अधूरा निर्माण कब पूरा होगा ऐसा सवाल पाथरी के नागरिकों द्वारा संबंधित प्रशासन से ज्ञापन द्वारा किया गया.

पाथरी गांव को प्राकृतिक शोभा मिली है और मेहनती किसान पूरे वर्ष सदाबहार खेती कर रहे हैं. पाथरी गांव पालांदूर के दैनिक संपर्क में है. पाथरी से पालांदूर आने वाली सड़क पर हर जगह गड्ढे पड़ गए हैं और यहां तक ​​कि पैदल भी चलना मुश्किल हो गया है. उसी सड़क पर नहर के ऊपर एक आधा निर्मित पुल भी है. पाथरी के लोगों के लिए सवाल यह है कि यह कब पूरा होगा. पाथरी के लोगों को सरकारी या अर्द्ध-सरकारी कार्यों के लिए पालांदूर जाना पड़ता है.

प्रशासन से पुल का जल्द निर्माण का अनुरोध

खराब सड़क एवं पुल के अधूरे निर्माण के कारण नागरिकों को 2-3 किमी की यात्रा करनी पड़ती है. लंबी दूरी को पार करते हुए, नरव्हा, लोहारा, खराशी, पालांदूर को इसी रास्ते से पालांदूर जाना पड़ता है, लेकिन स्थिति ऐसी है कि पाथरी से खराशी यह सड़क भी दयनीय हो गई है. इस कारण इस सड़क पर वाहनों का चलना मुश्किल हो गया है. ऐसे में पाथरी के ग्रामीण इस मुश्किल से गुजर रहे हैं. पाथरी निवासियों ने संबंधित प्रशासन से सड़क की मरम्मत एवं अधूरे पुल का निर्माण जल्द से जल्द करने का अनुरोध किया है.